लव जिहाद – लेंड जिहाद असम में इनके खिलाफ कानून की क्यों हुई जरूरत

लव जिहाद ‘ पंक्ति के बीच, असम का नया कानून जोड़ों को धर्म, आय घोषित करने के लिए कहेगा।

असम सरकार एक नया विवाह कानून बना रही है जिसके तहत कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दूल्हा-दुल्हन को शादी से एक महीने पहले सरकारी दस्तावेजों में अपने धर्म और आय का खुलासा करना होगा। यह भाजपा शासित कई राज्यों द्वारा “लव जिहाद” की जांच के लिए कानून लाने की घोषणाओं के एड़ी पर गर्म आता है ।

असम का कानून उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में पारित एक जैसा ही होगा लेकिन उसका अपना ट्विस्ट होगा । असम का कानून महिलाओं को सशक्त करेगा। इसमें यूपी और एमपी में कानून के कुछ तत्व होंगे ।

“लव जिहाद” एक शब्द है जो दक्षिणपंथी समूहों द्वारा मुस्लिम पुरुषों और हिंदू महिलाओं के बीच कथित रूप से सशक्त संबंध बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है । सिक्का यह भी दावा करता है कि एक नापाक योजना के हिस्से के रूप में शादी की आड़ में हिंदू महिलाओं को इस्लाम में बदला जा रहा है ।

इस शब्द को केंद्र सरकार ने आधिकारिक तौर पर स्वीकार नहीं किया है । हालांकि, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, हरियाणा सहित भाजपा सरकार वाले कई राज्य “लव जिहाद” के खिलाफ कानून लागू करने पर विचार कर रहे हैं ।

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने जबरन या ‘बेईमान’ धर्मांतरण के खिलाफ अध्यादेश को मंजूरी दे दी।

%d bloggers like this: