ब्रिटिश क्वीन की हत्या करने पहुंचा सिख गिरफ्तार:आरोपी ने कहा- महारानी को मार डालना चाहता हूं, यह 1919 के जलियांवाला बाग का इंतकाम होगा

थर्ड आई न्यूज

लंदन I क्रिसमस पर ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की हत्या करने के लिए एक सिख महारानी के महल में घुस गया। युवक महारानी की हत्या 1919 के जलियांवाला बाग हत्याकांड का बदला लेने के लिए करना चाहता था। पुलिस ने आरोपी को हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया। ब्रिटिश मीडिया के मुताबिक, 19 साल के इस युवक का नाम जसवंत सिंह छैल है। क्रिसमस के दिन घटी इस घटना की जानकारी अब सामने आई है।

मैं महारानी को मारने की कोशिश करूंगा: आरोपी
क्रिसमस के दिन सोशल मीडिया पर अपलोड वीडियो में आरोपी ने कहा- मैंने जो किया है और जो करूंगा उसके लिए मुझे अफसोस है। मैं रॉयल फैमिली की महारानी एलिजाबेथ को मारने की कोशिश करूंगा। यह उन लोगों का बदला है जो 1919 के जलियांवाला बाग हत्याकांड में मारे गए थे। यह उन लोगों का भी बदला है जिन्हें उनकी जाति की वजह से मारा या अपमानित किया गया। मैं एक भारतीय सिख हूं, ‘एक सिथ’। मेरा नाम जसवंत सिंह छैल था, अब मेरा नाम डार्थ जोन्स है।’

मेंटल हेल्थ एक्ट के तहत गिरफ्तार :
स्कॉटलैंड यार्ड ने बताया वीडियो की जांच की जा रही है। महारानी को मारने के लिए आरोपी अजीब सी हुडी और मास्क लगाकर महल में घुसा था। CCTV फुटेज में दीवार पर चढ़ता दिखाई दिया। उसके हाथ में धनुष भी था। पुलिस ने आरोपी को मेंटल हेल्थ एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है।

हॉलीवुड मूवी स्टार वॉर्स से इंस्पायर :
वीडियो में आरोपी ने जो मास्क पहना है वो हॉलीवुड मूवी स्टार वॉर्स से इंस्पायर है। ‘सिथ’ इसी मूवी का विलेन कैरेक्टर है। सिथ की तरह ‘डार्थ जोन्स’ भी इसी मूवी से जुड़ा है। छैल के वीडियो के बैकग्राउंड में स्टार वॉर्स कैरेक्टर डार्थ मालगस की तस्वीर थी। इसके साथ दोस्तों को भेजे मैसेज में लिखा- मैं उन सभी से माफी मांगता हूं, जिनके साथ मैंने गलत किया या झूठ बोला। अगर आपको यह मैसेज मिला है, तो मेरी मौत नजदीक है। इस वीडियो को और लोगों के साथ शेयर करें।

जलियांवाला बाग में क्या हुआ था:
13 अप्रैल 1919 को बैसाखी के दिन अमृतसर के जलियांवाला बाग में रॉलेट एक्ट के विरोध में सभा कर रहे हजारों लोगों पर जनरल डायर ने गोलियां चलवाईं थीं। इस गोलीकांड में एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। इसमें महिला, पुरुष और बच्चे सभी शामिल थे। 1,200 से ज्यादा लोग घायल भी हुए थे। सैकड़ों महिलाओं, बूढ़ों और बच्चों ने जान बचाने के लिए वहां बने एक कुएं में छलांग लगा दी, जिसमें उनकी मौत हो गई।

%d bloggers like this: