शादी कर रहे हैं तो ट्रेन से ले जा सकते हैं बारात, रेलवे ने तीर्थयात्रियों के लिए भी शुरू की व्‍यवस्‍था

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्‍ली । 2022 में शादी-ब्‍याह वाले घरों और तीर्थयात्रियों के जत्‍थे को ट्रेन से यात्रा करने में आसानी होगी। क्‍योंकि अब रेल यात्रियों ने ग्रुप टिकट बुक करने की सुविधा शुरू कर दी है। 100 यात्री टिकट अब अपने नजदीकी स्टेशन से ही बुक करवा सकते हैं। रेलवे के इस फैसले से शादी जैसे मौके पर बारातियों के लिए आसानी से टिकट बुक हो सकता है।

पश्चिम मध्य रेल के अनुसार अब ये सुविधा सभी आरक्षण केन्द्रों पर भी उपलब्ध करा दी गई है। हालांकि अब तक 20 से अधिक लोगों की (ग्रुप टिकट) के अग्रिम आरक्षण के लिए आवेदक को मंडल कार्यालय में आकर ही आवेदन देना पड़ता था, जिससे दूर के लोगों को बहुत असुविधा होती थी।

बता दें कि भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (IRCTC) की वेबसाइट या आइआरसीटीसी के ऐप के जरिए ग्रुप टिकट बुक करना संभव नहीं था। इसके साथ ही एकसाथ 6 लोगों से ज्यादा के लिए टिकट बुक नहीं कर सकते। इसलिए ग्रुप टिकट यानि 6 से ज्यादा लोगों के लिए अगर बुकिंग करनी होती है तो यात्रियों को ऑनलाइन एकसाथ टिकट मिलना मुश्किल हो जाता है।

सामान्य तौर पर यात्री किसी तीर्थ यात्रा पर जाने या शादी में बारातियों के लिये रेलवे की इस सुविधा का इस्तेमाल करते हैं या ग्रुप बुकिंग सुविधा ऑफिस से यात्रा करने वाले यात्री करते हैं। रेलवे के नए आदेश के मुताबिक 15 से 30 यात्रियों के आरक्षण के लिए रेलवे ने आरक्षण केंद्र के मुख्य आरक्षण पर्येक्षक सहित स्टेशन प्रबंधक, मुख्य वाणिज्य निरीक्षक को अनुमति देने के अधिकार दे दिए गए हैं।

इस बारे में 31 से 100 यात्रियों के अग्रिम पार्टी आरक्षण के लिए स्टेशन डायरेक्टर, क्षेत्रीय प्रबंधक और सहायक वाणिज्य प्रबंधक को अधिकार होगा। 100 से अधिक यात्रियों के ग्रुप आरक्षण होने पर ही मंडल के मंडल वाणिज्य प्रबंधक के पास आवेदन के लिए आना होगा। अधिकारों के विकेंद्रीकरण के बाद अब आवेदक अपने नजदीक के रेल आरक्षण केंद्र या आरक्षण टिकिट खिड़की पर जाकर पार्टी बुकिंग की सुविधा का लाभ ले सकते है। ग्रुप आरक्षण की ये सुविधा का विकेन्द्रीकरण होने से अब छोटे स्टेशनों के यात्रियों को रेल मंडल के मुख्यालय से जाने की जरूरत नहीं रहेगी।

%d bloggers like this: