बुल्ली बाई ऐप केस: बीटेक का छात्र निकला मुख्य आरोपी, दिल्ली पुलिस ने असम से किया गिरफ्तार

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली । बुल्ली बाई ऐप प्रकरण में दिल्ली पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की आईएफएसओ टीम ने मुख्य आरोपी को अपने शिकंजे में ले लिया है। आईएफएसओ टीम ने मुख्य आरोपी को असम से गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस की टीम उसे अब दिल्ली लेकर आ रही है।

डीसीपी (आईएफएसओ) केपीएस मल्होत्रा ने इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की आईएफएसओ टीम ने असम से मुख्य आरोपी नीरज बिश्नोई को गिरफ्तार किया है। डीसीपी ने बताया कि ये बुल्ली बाई ऐप का मुख्य साजिशकर्ता, क्रिएटर और ऐप का मेन ट्विटर अकाउंट होल्डर है। उसे दिल्ली लाया जा रहा है।

बीटेक की पढ़ाई कर रहा है नीरज बिश्नोई :
पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी नीरज बिश्नोई की उम्र सिर्फ 20 साल है और वो बीटेक का छात्र है। नीरज बिश्नोई असम के जोरहाट जिले के दिगंबर इलाके का रहने वाला है। नीरज भोपाल के वेल्लोर इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी का छात्र है।

पुलिस इससे पहले इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। सिविल इंजीनियरिंग के छात्र विशाल झा को बेंगलुरु, श्वेता सिंह को उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर और उत्तराखंड के कोटद्वार से मयंक रावत को गिरफ्तार किया जा चुका है।

क्या है बुली बाई ऐप?
बता दें कि इस ऐप को गिटहब नाम के प्लेटफार्म पर बनाया गया है। ऐप पर एक समुदाय विशेष की महिलाओं की बोली लगाई जा रही थी। इस दौरान महिलाओं का चेहरा दिखाई देता है, जिसे बुल्ली बाई नाम दिया है। इसमें इंटरनेट मीडिया पर काफी एक्टिव रहने वाले महिलाओं को टारगेट किया जाता है। समुदाय विशेष की इन महिलाओं की फोटो को प्राइसटैग के साथ बुली बाई ऐप में लोग एक-दूसरे को साझा करते थे। केंद्र सरकार के कहने पर इस ऐप को हटा दिया गया है।

%d bloggers like this: