कोरोना के साए में राज्य भर में मनाया जा रहा है माघ बिहू, मकर सक्रांति का भी उल्लास

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी. कोरोना के साए में आज राज्य भर में भोगली बिहू मनाया जा रहा है. बढ़ती महंगाई और कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के चलते सरकार द्वारा लगाई गई पाबंदियों के बावजूद राज्य भर से हर्षोल्लास के साथ बिहू मनाए जाने की खबरें आ रही हैं. उल्लेखनीय है कि कल रात उरूका के कारण सरकार की ओर से कर्फ्यू में थोड़ी – सी ढील दी गई थी. राज्य के शहरी इलाकों में तो कर्फ्यू का थोड़ा बहुत असर दिखा दिखा, लेकिन गांव – देहात में लोगों ने रात भर जमकर उरूका का मजा लिया, मेजी जलाई. मालूम हो कि हार्वेस्ट सीजन खत्म होने यानी धान की कटाई पूरी हो जाने के बाद असम में भोगली बिहू मनाया जाता है. माघ महीने में आने के कारण इसे माघ बिहू भी कहते हैं. यह असम का प्रमुख सांस्कृतिक उत्सव है.

वहीं दूसरी ओर सारे देश के साथ आज असम में भी मकर सक्रांति का उत्सव मनाया जा रहा है. भगवान आदित्य के धनु राशि से मकर राशि में आने के उपलक्ष्य में मकर सक्रांति मनाई जाती है. इस वर्ष हिंदू पंचांगों की अलग-अलग व्याख्या के चलते सक्रांति का उत्सव 14 और 15 जनवरी यानी दो दिन मनाया जा रहा है. मकर सक्रांति के बाद सूर्य उत्तरायण हो जाता है और खरमास के कारण रुके मांगलिक कार्य फिर से शुरू हो जाते हैं.

%d bloggers like this: