नगांव शहर के नेहरूवाली में आयोजित भोगाली बिहू उत्सव में मुख्यमंत्री डॉ हिमंत विश्व शर्मा ने की शिरकत

नगांव से डिंपल शर्मा

नगांव शहर के ऐतिहासिक कलंग नदी के किनारे स्थित नेहरूबाली के मैदान में 109 वां सदौ नगांव भोगाली बिहू उत्सव उद्यापन समिति के तत्वधान में आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर राज्य के मुख्यमंत्री डॉ हिमंत विश्व शर्मा खुली सभा में आज उपस्थित रहकर सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भोगाली या माघ बिहू का एक बड़ा विशिष्ट महत्व यह है कि जिस समय हम बिहू मनाते हैं, उस समय हमारा भंडार अनाज से भरा हुआ रहता है। स्वाभाविक तौर से भोगाली आनंद से भरा हुआ रहता है, यह हमारे बीच समन्वय का एक नया सिलसिला शुरू करता है। इस बिहू के अवसर पर बनाया गए मेजी हमारे अंतर में एक पवित्र आध्यात्मिक भाव की सृष्टि करती है। बिहू हमारा संस्कृतिक परिचय है। उन्होंने कहा कि राज्य में जितने भी उत्सव मनाए जाते हैं, सभी के पीछे कुछ न कुछ कारण छिपा हुआ रहता है I हम यदि उसका विश्लेषण करते हैं तो हमें यह अनुभव होता है कि हमारे पूर्वज कितने विद्वान और ज्ञानी थे। राज्य में मनाए जाने वाले तीनों बिहू उत्सव हमारे जातीय जीवन का परिचय देता है। भोगाली बिहू का सीधा संबंधित कृषि से है अर्थात कृषक कितना कठिन परिश्रम कर उपजाते हैं I इसीलिए हम कृषकों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापन करते हैं। मुख्यमंत्री डॉ शर्मा ने आगे कहा कि मैं सोच रहा हूं कि जितना जल्द हो कोविड हमारे बीच से चला जाए ताकि हम बिहू उत्सव को आनंद से मना सकें । भाषण के दौरान मुख्यमंत्री ने नगांव सदर क्षेत्र के विधायक रूपक शर्मा का भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि आज नगांव में दो काम सुंदर तौर से संपूर्ण हुए हैं । इस बिहू उत्सव के अवसर पर नगांव के 155 विशिष्ट नागरिकों को सम्मानित किया गया। उद्यापन समिति के कार्यकारी सभापति तथा विधायक रूपक शर्मा ने स्वागत भाषण दिया तथा नगांव में चल रहे विकास के कार्यों का ब्यौरा पेश किया। इस अवसर पर बढ़मपुर के विधायक जीतू गोस्वामी, रोहा के विधायक शशिकांत दास, उद्यापन समिति के सभापति रंजीत कुमार तामूली के अलावा कई विशिष्ट व्यक्ति उपस्थित थे। इस अवसर नगांव जिला साहित्य सभा, नगांव जिला नाट्य सम्मेलन, अखिल असम भोजपुरी परिषद की नगांव जिला समिति के तरफ से सभापति राम अवतार पासी, सलाहकार श्याम बाबू साह, मारवाड़ी सम्मेलन के तरफ से निवर्तमान अध्यक्ष अनिल शर्मा, अध्यक्ष ललित कोठारी, सचिव संजय गाड़ोदिया, कोषाध्यक्ष अजय मित्तल, गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के तरफ से अध्यक्ष देवेंद्र सिंह सहमी, गुरप्रीत सिंह सहमी, त्रिलोचन सिंह, हरदर्शन दर्शन सिंह, बंटी सिंह के अलावा नेपाली, बंगाली, गरिया मरिया आदि संगठनों ने मुख्यमंत्री का गर्मजोशी से स्वागत किया। स्वाधीनता दिवस के 75 वर्ष पूरे होने होने पर आजादी का अमृत महोत्सव के अवसर पर निर्माण किया गए अमृत उद्यान का उद्घाटन कर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं इस उद्यान का उद्घाटन कर अपने आप को गौरव अनुभव करता हूं। नगांव शहर में भीड़भाड़ की समस्या दूर करने के लिए नगांव आवर्त भवन के नजदीक कलंक नदी के ऊपर नवनिर्मित पक्का पुल का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री डॉ शर्मा ने कहा कि इस पुल के निर्माण से शहर में हो रहे भीड़भाड़ को कम किया जा सकता है इसके अलावा आवागमन में भी लोगों को काफी राहत मिलेगी। नगांव चिकित्सा महाविद्यालय का निर्माण काम एक वर्ष के अंदर पूर्ण कर लिया जाएगा जिसके लिए बजट राशि आवंटित की गई है। इसके बाद मुख्यमंत्री ने नगांव महाविद्यालय में उपस्थित होकर नगांव महाविद्यालय का प्रशंसा करते हुए कहा कि इस महाविद्यालय को विश्वविद्यालय के रूप में विकसितकारण करने का काम शुरू कर दिया गया है तथा बहुत जल्द क्या पूर्ण कर लिया जाएगा।इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत में शर्मा ने कहा कि मैं नगांव शहर की उन्नति के लिए सभी विभागों को धन्यवाद देता हूं और शहर की जनता को इस बीच के उद्घाटन होने पर शुभकामनाएं देता हूं ।आगे कहा गया की आने वाले कल से सार्वजनिक स्थानों पर कोविड की दूसरी डोज नहीं लेने वाले लोग आ नहीं सकेंगे। वह तो घर पर रह सकेंगे अस्पताल जा सकेंगे लेकिन डीसी कोर्ट ऑफिस दुकान होटल जब तक वह दूसरी वैक्सीन की डोज नहीं लेते हैं जा नहीं सकेंगे। कहा गया कि राज्य सरकार वर्तमान में वैक्सीन के ऊपर में ज्यादा जोर दे रही है। और वैक्सीन नहीं लेने वाले लोगों पर सरकार अब कठोर होगी। एक जनवरी और 31 दिसंबर के दिन और 13, 14,15 जनवरी को कोई दुर्घटना नहीं हुई हमारा यह अभियान चलते रहेगा कि आने वाले दिनों में भी दुर्घटना नहीं हो हम इसके लिए रास्ते में यान वाहन की गति स्पीड हेलमेट पहनना आदि को लेकर पूरे वर्ष काम करते रहेंगे विशेषकर उत्सव के दौरान यह कार्य चलते रहेंगे ताकि दुर्घटना नहीं हो। पूछे गए सवाल पर श्री शर्मा ने कहा कि असम में लोकडाउन की अभी कोई परिस्थिति नहीं है लेकिन माक्स पहनना जरूरी है। कहा कि असम में मंत्री सभा को बढ़ाने का भी कोई विचार ही है हम इसमें नहीं जाएंगे अभी हम सिर्फ विकास की बातों पर ध्यान देंगे। रोहा के विधायक शशिकांत दास हमारे साथ ही है शशिकांत दास का कांग्रेस से निलंबन हुआ है और वह सरकार की तरफ आए हैं मुझे सिर्फ इतना ही पता है इस तरह से अच्छे काम करने से विरोधी दल में एक भी लोग नहीं रह जाएंगे सरकार अगर अच्छे काम करेगी तो विरोधी दल में लोग क्यों रहेंगे।विरोधी कभी शून्य नहीं हो सकते लेकिन विरोधी डेफिनेटली कम हो जाएंगे अगर सरकार अच्छे काम करते हैं तो अगर सरकार खराब काम करती है तो विरोधी भी बढ़ेंगे देखिए मेरी दूसरी पार्टियों के जितने भी विधायक है सबके साथ मेरे अच्छे रिलेशन है इसका मतलब यह नहीं है कि सिर्फ बीजेपी में वह योगदान करें मेरा यही कहना है कि जो जहां पर है वह हमारे साथ रहे देखिए मैं धीरे-धीरे काम कर रहा हूं अभी हमारा मिशन वसुंधरा शुरू हुआ है इस महीने दो लाख मामले और आने वाले दिनों में आठ लाख मामले क्लियर होंगे। हम इन मामलों में आगे बढ़ रहे हैं हमारा उद्देश्य किसी पर आक्रमण करना नहीं है हमारा उद्देश्य है असम को सुनहरा करना और लोगों को साथ लेकर चलना इसलिए हम धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं और पिछले 8 महीनों में खराब काम तो बहुत कम हुए हैं हाथी और मानव संघ आपके साथ बंदरों का उत्पात दोनों समस्या बनी हुई है हमने इसके लिए बहुत ही चेष्टा की है इस बार देखिए लामडिंग वनांचल में हमने अवैध निर्माण को हटाया और इसके बाद हाथी वहां चले गए हैं और जहां बरहमपुर में हाथियों की मृत्यु हुई है हम वहां जंगल बना रहे हैं ताकि हाथी उधर चले जाए हम इस समस्या को दूर करने में जरूर सफल होंगे।

%d bloggers like this: