वीडिओ में सुधार के लिए मानसून सत्र में पेश होगा विधेयक : मुख्यमंत्री हिमंत

थर्ड आई न्यूज

जोरहाट से नीरज खंडेलवाल

मुख्यमंत्री डा.हिमंत विश्व शर्मा ने कहा कि असम गांव सुरक्षा संगठन (वीडिओ) अधिनियम, 1966 में सुधार के लिए मानसून सत्र में एक विधेयक पेश किया जाएगा। आज यहां देरगांव पुलिस प्रशिक्षण कॉलेज (पीटीसी) में वीडिओ के 73वें स्थापना दिवस के मौके पर डाक्टर शर्मा ने यह घोषणा की।।उन्होंने कहा कि वीडिओ को गतिशील संगठन में बदलने के लिए आगामी जुलाई महीनें में होने वाले मानसून सत्र में एक विधेयक पेश किया जाएगा। इसमें व्यापक सुधार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वीडीओ एक अवधारणा व संगठन है, जो असम के लिए अद्वितीय है। यह 1949 में स्थापित किया गया था। इसके संस्थापक दिवंगत हरिनारायण बरुआ ने अपने गांव की देखभाल व सुरक्षा लिए गांव के युवाओं की एक टीम बनाई थी। यह धीरे- धीरे पड़ोसी जिलों में फैल गई। और जल्द ही एक संगठन वीडीओ के नाम से जाना जाने लगा। 1966 में वीडीओ अधिनियम बना।मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 1986 में असम ग्राम सुरक्षा नियम बनाए गए। जो दोनों ही संगठन के कामकाज को नियंत्रित करता है। डा शर्मा ने कहा कि वे 22881 पंजीकृत वीडीपी के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करते है। मुख्यमंत्री ने सभी से ग्रामीणों की रक्षा करने व अपराध मुक्त माहौल बनाने के लिए सेवा व समर्पण के साथ काम करने का आह्वान किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सामाजिक कुरीतियों मसलन डायन,धार्मिक स्थलों में चोरी आदि की घटनाओं की रोकथाम में वीडिओ पुलिस के साथ कदम से कदम मिलाकर काम करें। इस दौरान कई भाजपा नेता व गणमान्य लोग मौजूद थे।

%d bloggers like this: