आसू ने फिर अलापा लोअर सुबनसीरी पनबिजली परियोजना के विरोध का राग, प्रदर्शन की दी चेतावनी

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी. अखिल असम छात्र संघ (आसू) ने एक बार फिर असम – अरुणाचल सीमा पर निर्माणाधीन लोअर सुबनसीरी हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट का विरोध किया है. राज्य सरकार पर बरसते हुए छात्र संस्था के महासचिव शंकर ज्योति बरूआ ने कहा कि कोविड महामारी का फायदा उठाकर सरकार तेजी से इस विवादास्पद प्रोजेक्ट को पूरा करने में लगी हुई है. उन्होंने कहा कि आम जनता को अंधेरे में रखकर लोक डाउन पीरियड में नेशनल हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर कॉरपोरेशन (एनएचपीसी) ने परियोजना का 40 फीसदी से अधिक काम पूरा कर लिया. उन्होंने कहा कि इस परियोजना के पूरा होने पर निचले इलाकों के लोगों पर कहर बरपेगा. उन्होंने कहा कि परियोजना की समीक्षा के लिए बनी एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट में भी खुलासा किया था कि प्रोजेक्ट के लिए जिस जगह का चयन किया गया है, वह सही नहीं है. इसके बावजूद सरकार और उसकी एजेंसियां इस परियोजना को आगे बढ़ा रही हैं. छात्र संस्था ने समान विचारों वाले राज्य के अन्य सभा संगठनों और राजनीतिक दलों से भी अपील की है कि वे इस घातक प्रोजेक्ट का पुरजोर विरोध करें.

%d bloggers like this: