अबके बरस रिमझिम बारिश और शीतलहर के बीच होगी विद्या की देवी की आराधना, सरस्वती पूजा कल

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी. असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में कल भी कई जगहों पर गरज के साथ छींटे पड़ेंगे. इतना ही नहीं शीत लहर का प्रकोप भी जारी रहेगा. मौसम विभाग द्वारा दी गई इस जानकारी ने सरस्वती पूजा के उत्साह को कम कर दिया है. खासकर राज्य की छात्राओं के लिए यह समाचार किसी दुःस्वप्न से कम नहीं. आखिर हो भी क्यों, स्कूल – कॉलेज की छात्राएं सरस्वती पूजा के लिए एक पखवाड़े पहले से ही तैयारियां शुरु कर देती हैं.

वहीं दूसरी ओर मौसम के मिजाज ने मूर्तिकारों को भी परेशान कर रखा है. एक तो बारिश के कारण वातावरण में आद्रता बढ़ जाने के चलते उनकी बनाई मूर्तियां सूख नहीं पा रही है, वहीं दूसरी ओर बारिश ने पूजा को लेकर लोगों का उत्साह ठंडा कर दिया है.

उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष भी कोरोना के कारण सरस्वती पूजा परंपरागत हर्षोल्लास के साथ नहीं मनाई जा सकी थी. सरकारी गाइडलाइंस के तहत इसे सूक्ष्म रूप से शैक्षणिक संस्थानों में ही मनाया गया था. इस वर्ष हालांकि राज्य सरकार व प्रशासन ने सरस्वती पूजा को लेकर अलग से कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किए हैं, पर मौसम के बिगड़ते तेवरों ने सब चौपट कर दिया है.

मौसम विभाग का कहना है कि राजस्थान में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के चलते इलाके में बेमौसम की बारिश हो रही है. और इसके कल भी जारी रहने की संभावना है.

%d bloggers like this: