भावुक हुए मोदी: आंखों में नमी, जुबां पर लड़खड़ाहट, पढ़ें पीएम मोदी ने विपक्ष पर कैसे साधा निशाना

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली l प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानी सोमवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर जवाब दिया। इस दौरान एक लम्हा ऐसा भी आया, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भावुक हो गए। उनकी आंखों में नमी साफ नजर आई और जुबां लड़खड़ाने लगी, लेकिन विपक्ष पर निशाना साधने में उन्होंने कोई कमी नहीं छोड़ी। इस दौरान उन्होंने मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। साथ ही, सवाल पूछा कि क्या जनता का सुख-दुख आपका नहीं है?

संसद में क्या बोले पीएम मोदी?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण के दौरान कहा, ‘कोरोना काल में कांग्रेस के आचरण से पूरा देश अचंभित है। कुछ लोगों ने जिस तरह का व्यवहार किया है, लोग पूछ रहे हैं कि क्या लोगों का सुख-दुख आपका नहीं है। इतना बड़ा संकट आया, कई राजनीतिक दलों के नेता, जो जनता के माने हुए नेता हैं। उन्हें लोगों से अपील करनी चाहिए थी कि आप मास्क पहनें, दो गज की दूरी रखें। क्या ये बार-बार देश की जनता को कहते तो भाजपा-मोदी को क्या फायदा होता। लेकिन इतने बड़े संकट में भी वे पवित्र काम करने से चूक गए। इस दौरान पीएम मोदी भावुक हो गए। उनकी आवाज में लड़खड़ाहट महसूस की गई।

विपक्ष पर ऐसे साधा निशाना :
पीएम मोदी ने कहा, ‘कुछ लोगों को इंतजार था कि कोरोना वायरस मोदी की छवि को चपेट में ले लेगा। बहुत इंतजार किया। आए दिन आप लोग दूसरों को नीचा दिखाने के लिए महात्मा गांधी का नाम लेते हैं। महात्मा गांधी की स्वदेशी की बात है, उसे बार-बार दोहराने से कौन रोकता है। मोदी लोकल फॉर वोकल कहता है तो क्या आप नहीं चाहते कि देश आत्मनिर्भर बने। इसका नेतृत्व आप लीजिए। महात्मा गांधी के निर्णय को आगे बढ़ाइए। क्या आप महात्मा गांधी के सपनों को सच होते नहीं देखना चाहते?’

भाषण के बीच जब पीएम ने ली चुटकी :
पीएम मोदी ने जब अपने भाषण की शुरुआत की तो विपक्ष के कुछ नेता बीच में बोलने लगे। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने उन्हें शांत कराया तो पीएम मोदी ने चुटकी ले ली। उन्होंने कहा कि दादा को मत रोकिए। बीच-बीच में मौका देते रहना चाहिए, क्योंकि वह उम्र के इस पड़ाव में बचपना दिखाते रहते हैं। सदन में थोड़ी बहुत टोका टाकी ठीक है।

%d bloggers like this: