रूस-यूक्रेन तनाव: कंट्रोल रूम से लेकर हेल्पलाइन नंबर और अतिरिक्त विमान तक, भारतीयों को यूक्रेन से निकालने की ये है तैयारी

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली l रूस-यूक्रेन के बीच मौजूदा तनाव को देखते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय ने यूक्रेन में रह रहे भारतीय को सहायता और सूचना देने के लिए कंट्रोल रूम बनाया है। यूक्रेन में मौजूद भारतीय दूतावास ने भारतीयों के लिए हेल्पलाइन भी शुरू किया है जो चौबीसों घंटे मदद के लिए तैयार रहेगी। कीव में मौजूद भारतीय दूतावास ने कहा है कि कई लोगों ने फोन पर सूचना दी है कि यूक्रेन से भारत लौटने के लिए ज्यादा फ्लाइट उपलब्ध नहीं होने की वजह से वो परेशान हैं। भारतीय दूतावास ने यूक्रेन में मौजूद भारतीय को पैनिक ना होने की सलाह दी है। हालांकि, यह भी कहा गया है कि वो मौजूदा उपलब्ध फ्लाइट में जल्द से जल्द टिकट लें ताकि वो अपने घर लौट सकें।

एक बयान में दूतावास की तरफ से कहा गया, ‘एंबेसी को ऐसे कई फोन आए हैं जिसमें लोगों ने यूक्रेन से भारत के लिए फ्लाइट की उपलब्धता ना होने को लेकर अपनी गुहार लगाई है। इस संबंध में छात्रों को सलाह दी जाती है कि वो पैनिक ना हों लेकिन उपलब्ध फ्लाइट में वो अपनी सीट जल्दी बुक करा लें ताकि वो भारत लौट सकें।’ दूतावास ने जानकारी दी है कि Ukrainian International Airlines, Air Arabia, Fly Dubai और Qatar Airways फिलहाल यूक्रेन में सेवाएं देने के लिए मौजूद हैं।

फ्लाइट की संख्या बढ़ाने की कोशिश :
दूतावास की तरफ से कहा गया है, ‘अतिरिक्त मांग को देखते हुए निकट भविष्य में यूक्रेन से भारत आने के लिए विमानों की संख्या बढ़ाने को लेकर योजना बनाई जा रही है। जल्द ही इसे लेकर सभी जानकारियां विस्तार से उपलब्ध करा दी जाएंगी। एंबेसी ने मंगलवार को यूक्रेन में मौजूद भारतीय नागरिकों और खासकर छात्रों से कहा था कि मौजूदा हालात के मद्देनजर वो अस्थायी रूप से फिलहाल यूक्रेन छोड़ दें। यह भी कहा गया था कि यूक्रेन की गैर-जरूरी यात्रा से बचें।

जारी किया गया हेल्पलाइन नंबर :
भारतीय विदेश मंत्रालय ने यूक्रेन के लोगों की मदद के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किये हैं। दिल्ली में कंट्रोल रूम से संपर्क करने के लिए जो नंबर जारी किये गये हैं वो इस प्रकार हैंः +91 11 23012113, +91 11 23014104, +91 11 23017905 और 1800118797….इसके अलावा [email protected] पर ईमेल कर भी संपर्क किया जा सकता है।

यूक्रेन में 18,000 छात्र :
आधिकारिक सूत्रों ने कहा है कि यूक्रेन में मौजूद भारतीय अपने मुल्क लौट सकें इसलिए विमानों की संख्या बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। इसके लिए नागरिक उड्डयन प्राधिकरण और विभिन्न एयरलाइंस के साथ बातचीत की जा रही है। साल 2020 के एक आधिकारिक डॉक्यूमेंट के मुताबिक यू्क्रेन में करीब 18,000 भारतीय छात्र पढ़ते हैं। इसके अलावा भी वहां कुछ भारतीय मौजूद हैं। हालांकि, हो सकता है कि माहामारी के दौरान इस डेटा में कुछ फर्क आया हो।

यूक्रेन की सीमा पर रूस ने अपने सैनिकों की संख्या जब से बढ़ाई है तब ही से दोनों देशों के बीच तनाव और भी बढ़ गया है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि रूस ने यूक्रेन की सीमा पर करीब 1 लाख रूसी सैनिकों को तैनात कर रखा है। नाटो देश यूक्रेन पर रूस के संभावित हमले को लेकर चिंतित भी है। हालांकि, रूस, यूक्रेन पर किसी भी हमले से इनकार कर रहा है और उसने यह भी कहा है कि उसने यूक्रेन की सीमा पर मौजूद अपने कुछ सैनिकों को वापस भी बुला लिया है।

%d bloggers like this: