पीएम मोदी के साथ टीवी डिबेट करना चाहते हैं इमरान खान, रूस यात्रा से पहले पाक प्रधानमंत्री का नया पैंतरा

थर्ड आई न्यूज

इस्लामाबाद I पाकिस्तान की आतंकी गतिविधियों के कारण भारत-पाक के बीच बातचीत एक अरसे से बंद है। लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस संबंध में एक नया पैंतरा चला है। उन्होंने भारत के साथ मुद्दे सुलझाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से टेलीविजन पर डिबेट करने की इच्छा जताई है। साथ ही कहा कि अगर चर्चा करने से मतभेद दूर हो सकते हैं तो यह इस उप महाद्वीप में रहने वाले अरबों लोगों के हित में होगा।

रूस के दौरे पर जाने से पहले ‘रूस टुडे’ को दिए एक इंटरव्यू में इमरान खान ने कहा कि मुझे टीवी पर नरेन्द्र मोदी से डिबेट करके बहुत अच्छा लगेगा। हालांकि भारत सरकार की ओर से इमरान खान के इस बयान पर अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत शत्रु देश बन गया तो उनके साथ कारोबार न्यूनतम हो गया। जबकि मेरी सरकार की नीति सभी देशों से व्यापारिक संबंध अच्छे रखने की है।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में इमरान के सलाहकार अब्दुल रज्जाक दाऊद ने भी भारत के साथ व्यापारिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा कि भारत के साथ फिर से कारोबार शुरू करने से दोनों देशों को फायदा होगा। इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान के क्षेत्रीय व्यापारिक विकल्प बहुत सीमित हैं। दक्षिण-पश्चिमी पड़ोसी ईरान के साथ अमेरिकी प्रतिबंधों के चलते व्यापारिक संभावनाएं सीमित हैं जबकि पश्चिम में स्थित अफगानिस्तान दशकों से युद्धरत है। हालांकि पाकिस्तान के व्यापारिक संबंध उत्तर में स्थित पड़ोसी देश चीन से बहुत अच्छे हैं। उसने देश को अरबों डालर का आधारभूत ढांचा देने का वादा किया है। उसने अपने बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट के जरिये पाकिस्तान की खासी मदद की है।

इमरान खान ने यह इंटरव्यू बुधवार को रूस के दौरे पर जाने से पहले दिया है। पिछले 23 सालों में पहली बार कोई पाकिस्तानी प्रधानमंत्री रूस जा रहा है। इमरान इस दो दिवसीय दौरे में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर से मुलाकात करेंगे। हालांकि विश्लेषकों का कहना है कि रूस दौरे के लिए यह समय उपयुक्त नहीं है। बलूचिस्तान के नेता जान अचकजाई का कहना है कि रूस ने इमरान खान को आमंत्रित नहीं किया था। वह खुद ही अपनी इच्छा से जा रहे हैं। इसके अलावा, यूक्रेन विवाद के बीच रूस ने पाकिस्तान से कोई मदद भी नहीं मांगी है और ना ही अमेरिका ने इमरान को रूस जाने से रोका है। उनका यह भी कहना है कि रूस पाकिस्तान को कुछ भी नहीं देने वाला है।

%d bloggers like this: