महायुद्ध का खतरा: यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने की रूसी जनता से भावुक अपील, पुतिन ने नहीं उठाया फोन

थर्ड आई न्यूज

कीव I अपने देश पर रूस के हमले की बढ़ती आशंका के बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूसी जनता से भावुक अपील की है। उन्होंने एक वीडियो संदेश जारी कर यूरोप में बड़ी जंग का खतरा जताया है। जेलेंस्की ने कहा, ‘आज मैंने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को फोन किया, उन्होंने बात नहीं की…। यह बड़ी जंग की शुरुआत हो सकती है।’

राष्ट्रपति जेलेंस्की ने वीडियो संदेश में कहा कि रूस ने करीब 2 लाख सैनिकों को सीमावर्ती इलाकों में भेज दिया है। उन्होंने कहा ‘पूरी दुनिया कह रही है कि अब किसी भी दिन जंग छिड़ सकती है। किसी भी क्षण संग्राम छिड़ सकता है। आपसे कहा जा रहा है कि इस जंग से यूक्रेन के लोग स्वतंत्र हो जाएंगे, लेकिन यूक्रेनी पहले से ही स्वतंत्र हैं।’

रूसी जनता के नाम अपने सीधे संदेश में जेलेंस्की ने कहा, ‘यूक्रेन आज खबरों में है और वास्तव में हम दो देश हैं। उनका मुख्य अंतर यह है कि हम असली हैं। मैं मानता हूं कि रूस उन देशों में होना चाहिए, जो हमें स्पष्ट सुरक्षा की गारंटी दे। मैं कई बार कह चुका हूं कि रूस के राष्ट्रपति (पुतिन) टेबल पर बैठें और बात करें।’ उन्होंने कहा, ‘यदि रूसी नेतृत्व शांति के लिए हमारे साथ बैठना नहीं चाहता है, लेकिन हो सकता है वह आपसे चर्चा करे। क्या रूसी जनता जंग चाहती है? मुझे इस सवाल का जवाब चाहिए। यह उत्तर सिर्फ आप दे सकते हो। रूसी संघ की जनता यह जवाब दे सकती है।’

वीडियो संदेश में जेलेंस्की ने रूसी जनता से कहा, ‘आपसे कहा जा रहा है कि हम रूसी संस्कृति से नफरत करते हैं? कोई किसी संस्कृति से कैसे घृणा कर सकता है? पड़ोसी हमेशा एक दूसरे की संस्कृति को मजबूत करते हैं, लेकिन एक दूसरे में घुल नहीं सकते। हम अलग हैं, लेकिन यह शत्रुता की वजह नहीं हो सकती।’

अंत में उन्होंने कहा, ‘हम हमारे दम पर हमारा इतिहास रचना चाहते हैं और शांति व ईमानदारी से जीना चाहते हैं। आपको बताया गया कि हम नाजी हैं, लेकिन नाजीवाद पर जीत के लिए 80 लाख से ज्यादा लोगों की कुर्बानी देने वाले लोग नाजियों का समर्थन कैसे कर सकते हैं? आपको बताया गया है कि यूक्रेन रूस के लिए एक खतरा है, यह अतीत में भी नहीं था, अभी भी नहीं है और भविष्य में भी रूस के लिए खतरा नहीं रहेगा।’

उधर, रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध संकट और भी गहराता जा रहा है। कीव से मिली रिपोर्ट के अनुसार बार-बार यह खबर आ रही है कि रूसी सेना यूक्रेन में प्रवेश कर गई है। हालांकि इसकी पुष्टि अभी नहीं हुई है। उधर, खतरे की आशंका को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) आज इस हफ्ते में दूसरी बार यूक्रेन पर चर्चा करेगी। यह बैठक कुछ ही समय में शुरू होने वाली है।

इस बीच जंग की जोखिम के चलते यूक्रेन ने गुरुवार को अपने हवाई क्षेत्र में नागरिक विमानों को प्रतिबंधित कर दिया है। यूक्रेनी हवाई क्षेत्र में उड़ान भरने के जोखिम स्तर को ‘डू नॉट फ्लाई’ तक बढ़ा दिया गया है।

%d bloggers like this: