अंबुबाची महायोग शुरू, कामाख्या धाम के कपाट बंद, शक्तिपीठ में जुटे भारी संख्या में साधु – संत और तांत्रिक

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी. शक्ति पीठ कामाख्या धाम के कपाट आज शाम 8:18 पर बंद हो गए. इसी के साथ वार्षिक अंबुबाची महायोग की शुरुआत हो गई है. निवृत्ति 26 जून को तड़के होगी. इसके बाद मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे.

गौरतलब है कि अंबुबाची योग के दौरान प्रकृति रजस्वला होती है. इस योग का वर्णन योगिनी तंत्र, हर गौरी संवाद और कालिका पुराण जैसे ग्रंथों में विस्तार से किया गया है. बताते हैं कि इस योग के दौरान शक्ति पीठ कामाख्या जागृत हो जाती है. तंत्र और मंत्र साधना के लिए यह सबसे उपयुक्त समय बताया गया है. लिहाजा अंबुबासी मेले के दौरान देश-विदेश से भारी संख्या में तांत्रिक और मांत्रिक साधना करने के लिए कामाख्या धाम पहुंचते हैं. इनके अलावा भारी संख्या में अन्य श्रद्धालु भी इस कालखंड में शक्तिपीठ आते हैं. इस वर्ष कोरोना, बाढ़ और रेल सेवा बाधित होने के चलते श्रद्धालुओं की भीड़ अपेक्षाकृत कम है. उल्लेखनीय है कि वर्ष 2020 और 2021 में कोरोना के कारण अंबुबाची मेला नहीं हुआ था. इन 2 वर्षों में केवल इस दौरान होने वाली रीति – मान्यता और विशेष पूजा अर्चना ही की गई थी.

%d bloggers like this: