जेईई मेन जून सत्र में गुवाहाटी की स्नेहा पारीक टॉप, मिले 100 पर्सेंटाइल

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी I राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी/NTA ने JEE Mains जून सत्र की परीक्षा के परिणाम की घोषणा कर दी है। परीक्षण एजेंसी ने परिणाम को आधी रात को जारी किया। बता दें कि जेईई मेन परीक्षा के लिए 9 लाख से अधिक छात्रों ने अपना पंजीयन कराया है। जिन छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया था, वे अपने परिणाम और स्कोरकार्ड को अब आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर जाकर चेक और डाउनलोड कर सकते हैं।

स्नेहा पारीक को मिले 100 परसेंटाइल :
असम के गुवाहाटी की स्नेहा पारीक को जेईई मेन परीक्षा में 100 पर्सेंटाइल यानी 300 में से 300 अंक प्राप्त हुए हैं। स्नेहा ने अपनी जेईई मेन की पढ़ाई कोटा से की है। उनकी कामयाबी की चर्चा अब देश भर में हो रही है। स्नेहा इससे पहले किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (KPVY) की स्कॉलर भी रह चुकी हैं। उन्होंने 10वीं कक्षा 95 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण की थी। अपनी कामयाबी पर अब स्नेहा पारीक ने भी बयान दिया है।

रोजाना 12 घंटे पढ़ाई :
JEE Mains में 100 पर्सेंटाइल प्राप्त करने वाली स्नेहा पारीक ने बताया कि वह रोजाना 12 घंटे पढ़ाई करती थी। सुबह कोचिंग जाकर कोचिंग के बाद भी वह वहीं रुक कर पढ़ाई करती थी। इसका कारण उन्होंने अच्छे माहौल को बताया है, जिससे पढ़ाई में मदद मिलती है। स्नेहा ने बताया कि उनका फोकस अब जेईई एडवांस में सफल होने की है।

प्रैक्टिस टेस्ट से मिली मदद :
स्नेहा पारीक ने बताया कि उन्हें परीक्षा में सफल होने में प्रैक्टिस टेस्ट से काफी मदद मिली। उन्होंने बताया प्रैक्टिस टेस्ट का पैटर्न और डिफीकल्टी लेवल करीब-करीब जेईई मेन जैसा होता है। इसकी मदद से मेन के पेपर में परेशानी नहीं आई। उन्होंने बताया कि उनकी कोचिंग के टीचर भी काफी अनुभवी और सपोर्टिव हैं।

आईआईटी बॉम्बे से बीटेक का सपना :
स्नेहा पारीक के पिता राजीव पारीक व्यवसायी हैं तथा मां सरिता पारीक गृहिणी हैं। स्नेहा ने बताया कि उन्हे कामयाब होने की प्रेरणा अपने माता-पिता से ही मिली। स्नेहा ने बताया कि वह आगे चलकर आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस ब्रांच में बीटेक करना चाहती हैं।

%d bloggers like this: