आतंकी मॉड्यूल में संलिप्त आठ लोगों की कोर्ट में पेशी, नौ दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी I असम की बरपेटा जिला पुलिस ने शुक्रवार को बरपेटा में अदालत के समक्ष आठ लोगों को पेश किया। आरोपियों को इस्लामिक आतंकी गतिविधियों में शामिल होने और AQIS/ABT के साथ संबंधों के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने उन्हें नौ दिन की पुलिस हिरासत में भेजा है।

बरपेटा के एसपी अमिताभ सिन्हा ने बताया कि 27-28 जुलाई की रात में बरपेटा के कई इलाकों में समन्वित छापेमारी की। हमने इस छापेमारी में 8 लोगों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार लोग कट्टरपंथी प्रक्रिया में शामिल थे, जो अंसारुल्लाह बांग्ला टीम से संबंध रखते हैं। यह संगठन बांग्लादेश में गैरकानूनी करार दिया गया है।

उन्होंने बताया कि इनसे पूछताछ में पता चला कि इनके द्वारा दो बांग्लादेशी नागरिकों को बरपेटा लाया गया। यह लोग कट्टरपंथी प्रक्रिया में शामिल थे जो भारत के राष्ट्रीय हित के लिए सही नहीं थे। छानबीन में पता चला है कि पकड़े गए दोनों बांग्लादेशी नागरिक त्रिपुरा और भोपाल भी गए थे।

इससे पहले असम में गुरुवार को दो बड़े आतंकी मॉड्यूल के भंडाफोड़ के बाद नया खुलासा हुआ था। एडीजीपी हिरेन नाथ ने बताया कि जांच में सामने आया है कि आरोपी लोगों से 2020 से फंडिंग कर रहे थे। इसमें वह व्यक्ति भी शामिल था, जिसे इस साल की शुरुआत में एबीटी का नेता होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

उन्होंने बताया कि गुरुवार को इस मामले में 11 व्यक्तियों को उठाया गया था, जिसमें पूछताछ के बाद आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया। उनके पास से जिहादी साहित्य बरामद हुआ है। उनके सोशल मीडिया हैंडल जिहादी सामग्री से भरे हुए हैं। इस मामले में गहनता से जांच की जा रही हैI

दरअसल, असम में गुरुवार को दो आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया था। एडीजीपी हिरेन नाथ ने बताया एक मॉड्यूल मोरीगांव में था। इस मामले में मदरसा चलाने वाले एक व्यक्ति को कल गिरफ्तार किया गया था। वहीं एक अन्य करीबी व्यक्ति को भी पकड़ा गया है।इसके अलावा दूसरा मॉड्यूल बरपेटा में मिला था।

इनपुट के आधार पर एनआईए ने मारा छापा :
जानकारी के मुताबिक, इनपुट के आधार पर एनआईए ने मंगलवार रात इरोड के मणिकमपलयम हाउसिंग यूनिट में एक घर पर छापा मारा और मुजाबदीन और उसके दोस्त यासीन (33) को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। स्थानीय पुलिस के साथ एनआईए ने दोनों के साथ 10 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की। इस दौरान केंद्रीय एजेंसी ने आसिफ के घर से जब्त लैपटॉप, मोबाइल फोन और अन्य दस्तावेजों की जांच की। जांच में सामने आया कि आसिफ के ISIS नेटवर्क से करीबी संपर्क हैं।

एनआईए द्वारा दर्ज एक शिकायत के आधार पर इरोड नॉर्थ पुलिस ने आसिफ मुजाबदीन को भारतीय दंड संहिता की धारा 121, 122 और 125 और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम 1967 की धारा 17, 18 ए, 20, 38 और 39 के तहत मामला दर्ज करने के बाद गिरफ्तार किया। उसे न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया और हिरासत में भेज दिया गया। वहीं, स्थानीय पुलिस अभी भी यासीन से पूछताछ कर रही है।

%d bloggers like this: