अर्पिता के घरों में मिला नोटों का ‘पहाड़’, पर मां रहती है जर्जर पुश्तैनी मकान में

थर्ड आई न्यूज

कोलकाता I पश्चिम बंगाल के चर्चित एसएससी घोटाले में गिरफ्तार अर्पिता मुखर्जी के घरों से जहां नोटों का पहाड़ मिला है, वहीं उनकी मां मिनौती मुखर्जी अब भी बदहाली के बीच 50 साल पुराने पुश्तैनी मकान में रह रही है।

मिनौती मुखर्जी उत्तर 24 परगना जिले में उनके पुश्तैनी घर में रहती हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मिनाती को यह भी पता नहीं है, उनकी बेटी सुर्खियों में क्यों है? उन्होंने कहा कि अर्पिता पिछले हफ्ते यहां आई थी। वह यहां कभी भी ज्यादा वक्त तक नहीं रही। मिनौती ज्यादातर अपने घर में ही अकेली रहती हैं। यह मकान 50 साल पहले बना था।

मां के लिए दो नौकरों की व्यवस्था :
मिनौती मुखर्जी अक्सर बीमार रहती हैं, अर्पिता उनसे मिलने उनके घर आती रहती है। मिनौती मुखर्जी के पड़ोसियों का कहना है कि अर्पिता ने मां की देखभाल व मदद के दिए नौकर लगा रखे हैं। कोर्ट द्वारा अर्पिता को 3 अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेजा गया है। उससे लगातार पूछताछ हो रही है कि उसके फ्लैटों से जब्त राशि आखिरकार किसकी है?

मेरी बात मानती तो शादी कर देती : मिनौती
एक न्यूज चैनल से चर्चा में मिनाती मुखर्जी ने कहा कि यदि अर्पिता ने मेरी बात मानी होती तो मैं उसकी शादी कर देती। उसके पापा सरकारी नौकरी में थे, इसलिए उसे वह नौकरी मिल सकती थी। उसने पैतृक घर बहुत पहले ही छोड़ दिया था। वह बांग्ला फिल्मों और टेलीविजन शो में काम करना चाहती थी। अर्पिता की गिरफ्तारी को लेकर मिनौती ने कहा कि मुझे समाचारों से पता चला। मुझे करोड़ों रुपये या नोटों के पहाड़ के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

पार्थ चटर्जी की करीबी है अर्पिता :
बता दें, अर्पिता मुखर्जी बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी है। चटर्जी को सीएम ममता बनर्जी ने हाल ही में मंत्री पद से हटा दिया है। इससे पहले वे ममता बनर्जी के खास सिपहसालारों में से एक थे।

%d bloggers like this: