ड्रैगन की धमकी के बीच नैन्सी पेलोसी पहुंचीं ताइवान, 13 अमेरिकी विमान दे रहे हैं सुरक्षा

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली l ताइवान को लेकर दुनिया को दो महाशक्तियां आमने-सामने आ गई हैं। जानकारी के अनुसार, अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी रात सवा आठ बजे करीब ताइवान की धरती पर पहुंच गई हैं। चीन की तमाम धमकियों और प्रदर्शन के बाद अमेरिकी सीनेटर को कड़ी सुरक्षा दी गई है। उधर, जापान मीडिया रिपोर्ट है कि अमेरिकी वायुसेना के 13 विमान पेलोसी को ताइवान में सुरक्षा देंगे। इस सुरक्षा बेड़े में आठ लड़ाकू विमान भी शामिल हैं। ताइवान को लेकर अमेरिका की दिलचस्पी के बाद चीन बौखलाया हुआ है। चीन ने अमेरिका को परिणाम भुगतने तक की धमकी दी है।

जापानी मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, अमेरिकी वायु सेना के कम से कम 13 विमान जापान में सैन्य ठिकानों से रवाना हुए थे। ये विमान अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी को ताइवान दौरे के दौरान सुरक्षा दी गई है। नैन्सी के ताइवान दौरे को लेकर अमेरिका और चीन के बीच तनाव के बीच यह खबर आई है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि आठ अमेरिकी लड़ाकू जेट और पांच टैंकर जापान से रवाना हुए थे। बताया जा रहा है कि ये विमान पेलोसी के ताइपे जाने वाले एस्कॉर्ट हैं।

ताइवान बोला- हम भी तैयार :
ताइवान की स्थानीय मीडिया के अनुसार, मंगलवार रात अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी ताइवान पहुंच गई हैं। ताइवान में उनकी सुरक्षा के लिए कड़े इंतेजाम किए गए हैं। ताइवान में जिस होटल में वो ठहरेंगी वहां भी सुरक्षा कड़ी की गई है।

ताइवान कार्ड खेलना बंद करे अमेरिका :
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, “अमेरिका को ताइवान कार्ड खेलने का कोई भी प्रयास छोड़ देना चाहिए और चीन की संप्रभुता का सम्मान करना चाहिए।”

चीन की धमकी, अमेरिका का पलटवार :
अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे को लेकर चीन हमलावर है। चीन इसे खुद को दी जाने वाली चुनौती के रूप में देख रहा है। चीन के कई इलाकों में अमेरिका के खिलाफ प्रदर्शन भी हो रहा है। चीन ने अमेरिका को परिणाम भुगतने की धमकी दी है। उधर, अमेरिका ने भी जवाब दिया है कि पेलोसी का दौरा उनका फैसला है। बता दें कि पेलोसी के प्रस्तावित एशिया दौरे में ताइवान शामिल नहीं था। उन्होंने दौरे के बीच ताइवान जाने का फैसला लिया है।

%d bloggers like this: