सागर पुलिस की दो हजार किलोमीटर दूर असम, नागालैंड में कार्रवाई:6 दिन घात लगाकर असम के लंका में दी दबिश, दो ड्राइवरों समेत तीन आरोपियों को दबोचा, 17 लाख के मोबाइल बरामद

थर्ड आई न्यूज

सागर/गुवाहाटी I सागर के सिविल लाइन क्षेत्र के अमानत में खयानत के मामले में पुलिस ने करीब 2 हजार किलोमीटर दूर असम और नागालैंड में दबिश देकर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से 17 लाख रुपए कीमत के मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं। पुलिस आरोपियों को लेकर सागर आई है। जहां उनसे पूछताछ की जा रही है।

सोमवार को एसपी तरुण नायक ने वारदात का खुलासा करते हुए बताया कि 11 जुलाई को फरियादी चंदन एसवी पुत्र वेंकटाराजू एस निवासी सुब्रमन्यम नगर बैंगलुरु ने सिविल थाने में शिकायत की थी। शिकायत में बताया था कि विष्णु लाजिस्टिक कंपनी के कंटेनर KA52132426 के ड्राइवर इमरान हुसैन और जाकिर उर्फ ज्योनल कंटेनर में लोड़ 120 नग वन प्लस मोबाइल फोन और हार्ड डिस्क आपराधिक षड्यंत्र रचकर अमानत में खयानत कर निकालकर ले गए है। वारदात सागर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के हाईवे पर स्थित बम्होरी तिराहे के पास की है। शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया।

असम और नागालैंड में मिली मोबाइलों की लोकेशन :
मामले में पुलिस ने जांच शुरू की। साइबर सेल की टीम मोबाइल ट्रेस करने में जुटी। इसी बीच मोबाइलों की लोकेशन असम और नागालैंड में मिली। लोकेशन मिलते ही एसपी ने स्पेशल टीम कार्रवाई के लिए रवाना की। टीम असम पहुंची। जहां लोकल पुलिस की मदद से आरोपियों की तलाश शुरू की। इसी बीच आरोपी कंटेनर चालकों की लोकेशन लंका क्षेत्र में मिली। जानकारी मिलते ही टीम ने आरोपियों को गिरफ्तार करने की प्लानिंग की।

रात करीब 1 बजे असम पुलिस के साथ सागर पुलिस ने लंका क्षेत्र में दबिश दी। कार्रवाई करते हुए आरोपी कंटेनर ड्राइवर इमरान हुसैन, पुत्र युसुफ अली, उम्र 23 साल और ज्योनल उर्फ जाकिर हुसैन, पुत्र खलील्लुर रहमान, उम्र 26 साल निवासी सिंगगांव थाना, लंका असम को धरदबोचा। तुरंत उसे पुलिस थाने लेकर पहुंचे। जहां पूछताछ में उन्होंने उक्त मोबाइल नागालैंड में मोबाइल दुकानदार को बेचना बताया। जिसके बाद टीम नागालैंड पहुंची। जहां कार्रवाई करते हुए आरोपी हसैन अहमद पुत्र वसीर अहमद उम्र 29 साल निवासी मेथा कालोनी, दीमापुर नागालैंड को गिरफ्तार किया। आरोपियों के कब्जे से 68 मोबाइल और 17 लाख रुपए जब्त किए गए। जिसके बाद आरोपियों को पकड़कर सागर लाया गया। पूरी कार्रवाई में पुलिस को करीब 10 दिनों का समय लग गया। इस दौरान 6 दिन तक पुलिस आरोपियों की धरपकड़ करने के लिए घात लगाए रही।

नागपुर में चोरी की और सागर में कंटेनर छोड़कर भागे थे :
एडिशनल एसपी विक्रम सिंह कुशवाहा ने बताया कि पूछताछ में सामने आया कि कंटेनर ड्राइवर आरोपी इमरान हुसैन और ज्योनल उर्फ जाकिर हुसैन ने अपने साथी समीम के साथ मिलकर स्वयं चेन्नई से दिल्ली चलाकर ले जा रहे कंटेनर को नागपुर में रोका। उसमें लगे लॉक को खोला। कंटेनर में लोड 120 मोबाइल और कुछ हार्डडिस्क निकाल लीं। जिसके बाद कंटेनर को नागपुर से बम्हौरी तिराहा सागर लेकर पहुंचे और चोरी किया सामान लेकर कंटेनर को बम्हौरी तिराहे पर छोड़कर भाग गए थे। वारदात सामने आते ही सागर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें आरोपी हुसैन अहमद के कब्जे 26 मोबाइल, इमरान हुसैन से 21 और ज्योनल उर्फ जाकिर हुसैन से 21 नग मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं।
कार्रवाई टीम में ये थे शामिल
असम और नागालैंड में कार्रवाई कर आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम में सिविल लाइन थाना प्रभारी नेहा सिंह गुर्जर, एसआई भूपेन्द्र विश्वकर्मा, प्रआर मुकेश कुमार, जानकी मिश्रा, आरक्षक कौस्तुभ मणि पाठक, आशीष गौतम, प्रदीप शर्मा, पवन सिंह, मनीष तिवारी और सायबर सेल से अमित शुक्ला, अमर तिवारी शामिल थे।

%d bloggers like this: