ट्विटर पर वार : देख लीजिए अरविंद केजरीवाल, हिमंत ने दिल्ली सीएम को भेजा स्कूल वाला वीडियो

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी I दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा के बीच शिक्षा और विकास को लेकर ट्विटर पर छिड़ी जंग लगातार जारी है। बीते कई दिनों से दोनों राज्यों के नेता एक-दूसरे पर जमकर वार-पलटवार कर रहे हैं। इसी क्रम में हेमंत ने शनिवार को एक बार फिर ट्विटर पर अरविंद केजरीवाल को टैग करते हुए एक वीडियो शेयर किया है।

असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को फिर से टैग करते हुए ट्विटर पर शिक्षा क्षेत्र में विशेषकर चाय बागानों के लोगों के लिए किए गए अपनी सरकार के कामों को बताया।

उन्होंने एक वीडियो क्लिप शेयर करते हुए कहा, ”जब तक मजबूर न किया जाए, हम चुपचाप काम करना पसंद करते हैं! इस शैक्षणिक वर्ष में हमने चाय बागान श्रमिकों के बच्चों के लिए 100 माध्यमिक विद्यालय बनाए हैं; 100 और पाइपलाइन में हैं। चाय के बागान असम के सुदूर इलाकों में स्थित हैं। इन बुनियादी ढांचे और प्यारे बच्चों को देखें।”

इससे पहले शुक्रवार को भी उन्होंने अपने एक ट्वीट में अरविंद केजरीवाल को टैग करते हुए लिखा था, ”उत्कृष्टता के लिए हमारी प्रतिबद्धता सर्वोच्च है। हम करते हैं और डींग नहीं मारते। दिल्ली की तुलना में छोटा राज्य होने के बावजूद, असम में 21 अत्याधुनिक मेडिकल कॉलेज/अस्पतालों का निर्माण: 06 पूर्ण; 03 इस वर्ष पूरा किया जाना है।”

उधर, शर्मा द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो में दावा किया गया है कि असम में एक मजबूत स्कूल शिक्षा प्रणाली है, जिसमें 44,521 सरकारी स्कूलों में दो लाख से अधिक शिक्षक 65 लाख से अधिक छात्रों को पढ़ा रहे हैं। इसमें कहा गया कि राज्य सरकार द्वारा कुल 1.18 लाख मध्याह्न भोजन कार्यकर्ता भी रखे गए हैं। वीडियो में कहा गया है कि चाय बागान श्रमिकों के बच्चों के लिए इस शैक्षणिक सत्र में जहां 100 माध्यमिक विद्यालय खोले गए हैं, वहीं 100 अन्य स्कूल तथा 10 कॉलेज परियोजना की तैयारी के चरण में हैं। इसमें अंत में कहा गया कि हम चुपचाप गुणवत्ता प्रदान करना पसंद करते हैं!

दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच काफी समय से ट्विटर पर जुबानी जंग चल रही है और दोनों ही एक -दूसरे को अपने राज्य का दौरा करने तथा किए गए विकास कार्यों को देखने के लिए कह रहे हैं। केजरीवाल को टैग करते हुए शर्मा ने शुक्रवार को स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में अपनी सरकार की उपलब्धियों को साझा किया था। यह विवाद तब शुरू हुआ जब दिल्ली के मुख्यमंत्री ने खराब परिणामों के कारण असम सरकार द्वारा स्कूलों का विलय किए जाने संबंधी एक खबर के जवाब में कहा कि स्कूलों को बंद करना कोई समाधान नहीं है।

%d bloggers like this: