क्रूरता: जमीन विवाद में युवती को कमरे में बंद कर खड़ी कर दी दीवार, पुलिस ने ऐसे निकाला

Jharkhand Koderma Crime News पुलिस ने मामले में एक महिला को हिरासत में लिया है।
घटना कोडरमा जिले के जयनगर थाना क्षेत्र की है। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने 6 घंटे बाद दीवार तोड़कर युवती को बा‍हर निकाला। पुलिस ने मामले में एक महिला को हिरासत में लिया है।

जयनगर, झारखण्ड। कोडरमा जिले के जयनगर थाना अंतर्गत ग्राम योगियाटिल्हा में जमीन पर कब्जा जमाने के लिए एक निहायत ही अमानवीय व क्रूर तरीका अपनाने का मामला सामने आया है। यहां जमीन विवाद में एक पक्ष ने 19 वर्षीय युवती सुलेखा कुमारी को घर के कमरे में बंद कर ताला जड़ दिया और कुछ ही देर में बाहर ईंट की दीवार खड़ी कर दी। इसके पश्चात मुख्य द्वार पर दीवार खड़ा कर दिया। घटना शुक्रवार को दिन के 1 बजे उस वक्त अंजाम दिया गया, जब सुलेखा के स्वजन गांव में एक गृह प्रवेश कार्यक्रम में गए हुए थे।

पीड़िता सुलेखा कुमारी ने बताया कि जमीन विवाद को लेकर उनके पिता किशोर पंडित और गांव के ही विनोद पंडित, शंकर पंडित, मनोज पंडित, बीरबल पंडित से जमीन का विवाद चलता आ रहा है। शुक्रवार को जब वह गाय के बच्चे को चारा दे रही थी, तभी अचानक विनोद पंडित, शंकर पंडित, मनोज पंडित, बीरबल पंडित, उषा देवी, गायत्री देवी, मनीषा देवी, मीना देवी, सावित्री देवी उसके घर पहुंच गए और जबरन उसे कमरे में डालकर बाहर से ताला लगा दिया।

साथ ही मुख्य द्वार पर ईंट से दीवार खड़ी कर दी। वह चिल्लाती रही, बावजूद लोग नहीं माने। वहीं युवती के पिता किशोर पंडित ने बताया कि विनोद पंडित, शंकर पंडित, मनोज पंडित, बीरबल पंडित पिता स्व. छोटू पंडित जबरन मेरी जमीन को अपना जमीन बताकर हमेशा मारपीट करते रहते हैं। यह मामला कोर्ट में भी चला। इसमें उसकी जीत भी हुई। बावजूद उपरोक्त लोग उनसे लड़ते-झगड़ते रहते हैं। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को वे अपने परिजनों के साथ जयनगर गृह प्रवेश में किसी रिश्तेदार के यहां गए हुए थे।

लगभग 6 घंटे के बाद जब पुलिस को जानकारी मिली तो घटनास्थल पर पहुंचकर दीवार तोड़कर युवती को कमरे से बाहर निकाला। युवती फिलहाल पूरी तरह स्वस्थ है।

उन्हें जब खबर मिली कि उनकी पुत्री को कुछ लोगों ने घर में बंद कर दीवार खड़ा कर दिया है तो आनन-फानन में वे जयनगर थाना पहुंचे। घटना की सूचना मिलते ही एसआइ राजेंद्र राणा दल बल के साथ योगियाटिल्हा पहुंचे और दीवार तोड़कर युवती को बाहर निकाला। बाहर निकलते ही युवती फूट-फूट कर रोने लगी और बेहोश होने लगी। तब जाकर उसे परिजनों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लाकर भर्ती कराया। यहां उसका इलाज किया गया। पुलिस के अनुसार समय पर अगर उसे खबर नहीं मिलती तो युवती की जान भी चली जाती।

मामले को लेकर किशोर पंडित ने जयनगर थाना में एक आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है। हालांकि जयनगर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दूसरे पक्ष की एक महिला सावित्री देवी को हिरासत में ले लिया है, लेकिन रात्रि में जब युवती व उसके स्वजन थाना में थे, तब दूसरे पक्ष के लोगों ने दबंगई दिखाकर उसके खपरैल मकान को क्षतिग्रस्त कर दिया। थाना प्रभारी अब्दुल्ला खान ने बताया कि मामला बहुत गंभीर है। इसमें दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

%d bloggers like this: