हिंदुओं के खिलाफ नफरती भाषण पर सांसद राजा के खिलाफ आंदोलन, आज नीलगिरी बंद, स्पीकर से की शिकायत

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली l हिंदुओं के खिलाफ कथित तौर पर नफरती बातें कहने पर तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रमुक के सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री ए राजा के खिलाफ असंतोष बढ़ता जा रहा है। हिंदू मुन्नानी संगठन ने आज राजा के संसदीय क्षेत्र नीलगिरी में बंद आयोजित किया है। वहीं, पार्टी ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से भी राजा की शिकायत कर उन पर कार्रवाई की मांग की है।

तमिलनाडु हिंदू मुन्नानी के प्रदेश अध्यक्ष कदेश्वर सुब्रमण्यम ने मंगलवार को कहा कि संगठन सदस्यों ने द्रमुक नेता की निंदा करते हुए सोमवार को तिरुपुर में विरोध प्रदर्शन किया। संगठन के सदस्य अब राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को व्यक्तिगत पत्र भेजकर राजा के इस्तीफे की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि राजा ने वेश्याओं से तुलना करके हिंदू लोगों की भावनाओं का अपमान किया है। उन्होंने एससी समुदाय के लिए आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र से एक हिंदू के रूप में जीत हासिल की। अगर वह हिंदू नहीं होते तो चुनाव नहीं लड़ पाते। वह इस तरह की टिप्पणियों के माध्यम से हिंदुओं में अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं।

तमिलनाडु भाजपा के आईटी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सीटीआर निर्मल कुमार ने बताया कि सांसद राजा के खिलाफ पार्टी ने लोक सभा स्पीकर ओम बिरला को हलफनामे के साथ शिकायत की है। लोकसभा के कामकाज के संचालन नियम 233ए (4) के तहत की गई शिकायत में राजा के बयान को अनैतिक बताते हुए हिंदुओं के खिलाफ घृणा फैलाने वाला बताया गया है।

क्या बोले थे ए राजा :
दरअसल, एक कार्यक्रम में बोलते हुए ए राजा मनुस्मृति का जिक्र करते हुए हिंदुओं को लेकर कई विवादित बातें कहीं। उन्होंने कहा कि समाज के एक तबके को समानता, शिक्षा, रोजगार और मंदिरों में प्रवेश से वंचित रखा गया। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट पर सवाल उठाते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था कि अगर कोई ईसाई, मुस्लिम या फारसी नहीं है, तो वह हिंदू है। क्या कोई और देश है जो इस तरह की क्रूरता का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा कि डीएमके और उसके मुखपत्र में यह मुद्दा उठाने का समय आ गया है।

भाजपा हुई हमलावर :
भाजपा के राज्य प्रमुख के अन्नामलाई ने उनके बयानों को लेकर तंज कसा था। उन्होंने ए राजा के बयान का वीडियो ट्वीटर पर शेयर करते हुए कैप्शन दिया कि तमिलनाडु में राजनीतिक प्रवचन की एक खेदजनक स्थिति। उन्होंने आगे लिखा कि डीएमके सांसद ने एक बार फिर एक समुदाय के खिलाफ नफरत फैला दी है। उनका एकमात्र उद्देश्य दूसरों को खुश करना है। ये राजनीतिक नेताओं की बहुत दुर्भाग्यपूर्ण मानसिकता है, जो खुद को तमिलनाडु के मालिक मानते हैं। भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वनथी श्रीनिवासन ने भी उनपर हमला बोलते हुए कहा कि राजा ने कई मौकों पर महिलाओं और हिंदुओं का अपमान किया है। इस बार भी उन्होंने जहर उगल दिया है।

%d bloggers like this: