दिल्‍ली में मिले असम और मिजोरम के मुख्‍यमंत्री, सीमा मुद्दों के हल के लिए क्षेत्रीय समिति बनेगी

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्‍ली. असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने बुधवार को असम हाउस में मिजोरम के अपने समकक्ष जोरमथांगा से मुलाकात की. लंबे समय से चले आ रहे सीमा मुद्दों को सुलझाने के लिए दोनों ने चर्चा की. इसके बाद असम के सीएम ने कहा कि ‘हम दोनों राज्यों के बीच सीमा मुद्दों पर चर्चा और समाधान के लिए एक क्षेत्रीय समिति बनाने की प्रक्रिया में हैं.’

असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने बताया कि आज हम मिले, हमने असम और मिजोरम के मंत्रियों के बीच हुई बैठक की समीक्षा की और जो बातें हुईं हैं, उसको लेकर हमने संतुष्टि प्रकट की है. उन्‍होंने कहा कि मैंने, मिजोरम के मुख्‍यमंत्री जोरमथांगा से मुलाकात की है और दोनों राज्यों के बीच के मुद्दों को लेकर चर्चा हुई. मेरे द्वारा गठित उच्च स्तरीय मंत्रियों की टीम ने आइजोल का दौरा किया और हम एक क्षेत्रीय कमेटी गठित करने की प्रक्रिया में हैं जिससे हम बॉर्डर की समस्या को सुलझा सकें.

अगले महीने गुवाहाटी में फिर होगी चर्चा :
पिछले साल नवंबर में दोनों नेता केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में नई दिल्ली में मिले थे. मिजोरम के गृह विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि अगले महीने गुवाहाटी में होने वाली दोनों राज्यों के बीच मंत्री स्तरीय वार्ता के अगले दौर की तारीख अभी तय नहीं हुई है. असम प्रतिनिधिमंडल के साथ अगले दौर की बातचीत की तारीख अभी तय नहीं की गई है. इस मामले पर चर्चा नहीं हुई है. क्योंकि गृह मंत्री लालचमलियाना अभी बीमारी के कारण छुट्टी पर हैं. एक बार उनके पदभार ग्रहण करने के बाद इस पर चर्चा की जाएगी. तनावपूर्ण सीमा विवाद मामले में दोनों मंत्रियों की मुलाकात अगस्त 2021 में हुई थी.

सीमा पर शांति बनाए रखने पर सहमति, विवाद का अंत जल्‍द करने के संकेत :
पिछली बैठक में, दोनों पक्ष सीमा पर शांति बनाए रखने पर सहमत हुए और अक्टूबर में गुवाहाटी में फिर से मिलने का फैसला किया. मिजोरम असम के साथ 164.6 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करता है. दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद लंबे समय से चला आ रहा है. मिजोरम 1972 तक असम का हिस्सा था. इसके बाद इसे केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया और फिर 1987 में यह एक राज्य बन गया. दोनों पड़ोसी राज्यों के बीच सीमा विवाद पिछले साल जुलाई में हिंसक हो गया था, जिसमें असम के छह पुलिसकर्मियों और एक नागरिक की मौत हो गई थी.

%d bloggers like this: