रेड मारने वालों पर सीबीआई की रेड : रंगबाज जीएसटी कमिश्नर शक्ति भेल राजू , महावीर जैन और एक अन्य गिरफ्तार, सेंट्रल एजेंसी की कार्रवाई से कहीं खुशी कहीं गम

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी. सेंट्रल जीएसटी कमिश्नर (अपील) शक्ति भेल राजू को आज सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया. उसके साथ उसके ‘लेनदेन’ का काम देखने वाले महावीर जैन नामक एक शख्स को भी गिरफ्तार किया गया है. बताते हैं कि जैन महानगर में एक कूरियर सर्विस फर्म चलाता है. उल्लेखनीय है कि महानगर के केदार रोड स्थित जीएसटी कार्यालय में सीबीआई ने गत बुधवार को छापा मारा था. कल दिन – रात चले छापे की इस कार्रवाई के बाद केंद्रीय एजेंसी ने जीएसटी कमिश्नर (अपील) शक्ति भेल राजू व महावीर जैन सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए तीसरे शख्स की आधिकारिक रूप से अब तक जानकारी नहीं दी गई है. पर अंदरखाने से छनकर आ रहीं खबरों की माने तो सीबीआई के हत्थे चढ़े तीसरे व्यक्ति का नाम राजेंद्र दाते है. यह राजू की तरफ से व्यापारियों से केदार रोड के एक होटल में मोल भाव तथा लेनदेन किया करता था.

थर्ड आई न्यूज की उड़ती चिड़िया ने सारे मामले में जब ताक झांक की, तो कई हैरान कर देने वाले राज सामने आए. उड़ती चिड़िया ने बताया कि यह तो शुरूआत है, पिक्चर अभी बाकी है. महानगर के कई चार्टर्ड अकाउंटेंट्स और टैक्स प्रैक्टिसनरों से भी कमिश्नर राजू के बेहद करीबी और ‘कामकाजी’ रिश्तों की बात सामने आई है. लिहाजा राजू पर कार्रवाई के बाद जहां ईमानदार तबकों में खुशी का माहौल है, वहीं कमिश्नर से सांठगांठ कर अपनी जेब भरने वाले सीए और कर सलाहकारों के चेहरों पर परेशानी साफ पढ़ी जा रही है.

बहरहाल, सीबीआई मामले की हर एंगल से जांच पड़ताल कर रही है. जानकारों की माने तो कमिश्नर (अपील) राजू ने अपने कार्यकाल में व्यापारियों से सीधे या फिर सीए और टैक्स प्रैक्टिसनरों के मार्फत करोड़ों रुपए घूस के रूप में लिए हैं. बताते हैं कि इस अफसर के तेवर और हेकड़ी किसी रंगबाज से कम नहीं थी. वह न केवल व्यापारियों को बल्कि चार्टर्ड अकाउंटेंट और कर सलाहकारों तक को अपने लंबे हाथ और ऊंची पहुंच की धौंस देता था. सूत्रों के अनुसार पासा तब उल्टा पड़ गया, जब इसने ऊपरी असम के दो व्यापारियों से पंगा ले लिया. पता चला है कि कमिश्नर राजू के हाथों पीड़ित इन व्यापारियों की पहुंच दिसपुर के सत्ता के गलियारों तक है. पानी सिर के ऊपर जाते देख उन्होंने अपने साथ राजू के हाथ हुई ज्यादतियों की शिकायत ऊपर कर दी और राजू पर कार्रवाई हो गई.

इस कार्रवाई में जो सनसनीखेज बातें सामने आई हैं, वे जीएसटी विभाग में खुलेआम चल रही लूट खसोट, धमकी- दादागिरी की पोल खोल रही है. ‘रंगबाज’ कमिश्नर किस तरह लोगों को धमकी देता था, वसूली का उसका तरीका क्या था, इस सारे गोरखधंधे में उसके गुर्गे कौन-कौन हैं, कौन से सीए और प्रैक्टिसनर राजू से नजदीकियों के चलते सीबीआई के रेडार पर है, राजू का बैकग्राउंड क्या है, इन सभी खबरों से बाखबर रहने के लिए बने रहिए थर्ड आई न्यूज के साथ, इंतजार कीजिए खबर की अगली कड़ी का..

%d bloggers like this: