‘…तब असम के मुख्यमंत्री ने मुझे बहुत मारा था..’ : चार दशक पुरानी घटना याद कर बोले गृहमंत्री अमित शाह

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आज गुवाहाटी में पार्टी के नए कार्यालय का उद्घाटन किया. इसके बाद शाह ने दावा किया कि भाजपा शासन के दौरान असम और पूर्वोत्तर क्षेत्र शांति व विकास के पथ पर आगे बढ़े हैं.शाह ने कहा कि कांग्रेस के 70 वर्ष के राज ने पूर्वोत्तर भारत को हिंसा और अराजकता की ओर धकेल दिया था, लेकिन अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने इसे मुख्यधारा से जोड़ दिया है.

इस मौके पर अमित शाह ने करीब चार दशक पुरानी घटना को याद करते हुये कहा कि मैं यहां विद्यार्थी परिषद के कार्यक्रम में आया था तब हमें हितेश्वर सैकिया (असम के तत्कालीन मुख्यमंत्री) ने बहुत मारा था… हम इंदिरा के खिलाफ नारे लगा रहे थे. हमारा नारा था – ‘असम की गलियां सूनी है, इंदिरा गांधी खूनी है’. इसलिए हमें मारा गया था. उस वक्त कल्पना नहीं थी कि भाजपा अपने बूते पर दो बार जीतकर यहां सरकार बनाएगी.

शाह ने कहा कि भाजपा सरकार ने 9 हजार लोगों से हथियार डलवाकर असम में शांति स्थापित की है. शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए बजट को तिगुना कर दिया है, जिससे सभी क्षेत्रों में ढांचागत विकास हुआ है. शाह ने पार्टी के नए कार्यालय का जिक्र करते हुए कहा, भाजपा कार्यालय केवल ईंट-पत्थर की इमारत नहीं हैं, बल्कि यह पार्टी कार्यकर्ताओं के समर्पण, भावना, प्रतिबद्धता और कड़ी मेहनत को दर्शाती है.

इससे पहले, शाह ने भाजपा अध्यक्ष जे. पी. नड्डा के साथ केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल, मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा, पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख भवेश कलिता, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा और अन्य की उपस्थिति में पार्टी के नए मुख्यालय का उद्घाटन किया. इसके बाद नेताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर बनी छह मंजिला इमारत की सभी मंजिलों का जायजा लिया. नड्डा ने डिजिटल माध्यम से नौ जिला पार्टी कार्यालयों, जबकि शाह ने 102 क्षेत्रीय कार्यालयों की आधारशिला रखी.

%d bloggers like this: