ईद मिलाद उन नबी पर ‘अनहोनी’ की आशंका, असम में जुलूस और लाउडस्पीकर पर पाबंदी

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी I हिमंत सरकार के आदेश पर असम प्रशासन ने कई इलाकों में आज ईद ए मिलाद उन नबी के मौके पर मुस्लिम लोगों के जुलूस निकालने और लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर पाबंदी लगाने की घोषणा की है। हालांकि प्रशासन ने पहले इन आयोजनों की मंजूरी दी थी लेकिन, बाद में फैसला पलट लिया।

आज ईद-मिलाद-उन-नबी का पर्व मुस्लिम लोगों द्वारा हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है। मुस्लिम लोग आज का दिन पैगंबर मोहम्मद के जन्मदिन के रूप में मनाते हैं। असम की बराक घाटी के कछार, हैलाकांडी और करीमगंज जिलों में प्रशासन ने आज जुलूस निकालने और लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

मस्जिद और खुले मैदान में छूट :
इन जिलों में प्रशासन ने पहले आयोजकों को जुलूस और लाउडस्पीकर के इस्तेमाल की अनुमति दी थी, लेकिन शनिवार को “कानून-व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए” फैसला पलट दिया। कछार एसपी नुमाल महतो ने कहा, “हालांकि, वे किसी खुले मैदान, मस्जिद या ईदगाह में उत्सव मना सकते हैं।” प्रशासन के फैसले के बाद कछार की जूलूस-ए-मोहम्मदी उत्सव समिति ने रैली को रद्द करने की घोषणा की।

%d bloggers like this: