4 महीने बाद सुनक से मिले जॉनसन:दोनों नेताओं ने पीएम पद के नामांकन को लेकर चर्चा की; 28 अक्टूबर को होंगे नए प्रधानमंत्री चुनाव

थर्ड आई न्यूज

लंदन I ब्रिटेन में सियासी घमासान मचा हुआ है। इस बीच ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और उनकी सरकार में वित्त मंत्री रह चुके ऋषि सुनक ने शनिवार देर रात आमने-सामने बातचीत की। सुनक ने जुलाई में वित्त मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद उनके और बोरिस जॉनसन के बीच कड़वाहट आ गई थी। उसके बाद यह उनकी पहली निजी बातचीत मानी जा रही है।

मीडिया इस मुलाकात को ‘सिक्रेट समिट’ बता रहा है। क्योंकि इस बैठक के बारे में बेहद करीबियों के अलावा किसी को जानकारी नहीं थी। इस बैठक की अहम वजह भी है- दोनों नेताओं का नामांकन। लिज ट्रस की सरकार गिरने के बाद सुनक और जॉनसन कंजरवेटिव पार्टी के लीडर और प्रधानमंत्री पद के तगड़े दावेदार माने जा रहे हैं। हालांकि दोनों में फिलहाल आधिकारिक तौर पर नामांकन नहीं भरा है। ऐसा माना जा रहा है कि सुनक और जॉनसन ने नामांकन को लेकर ही चर्चा की।

सुनक और जॉनसन 24 अक्टूबर तक नामांकन दाखिल कर सकते हैं। यदि 24 अक्टूबर को ही सुनक को 100 से ज्यादा सांसदों का समर्थन मिल जाता है तो वो प्रधानमंत्री बन जाएंगे।

जॉनसन ने सुनक को दिया नंबर-2 का ऑफर :
संडे टेलीग्राफ की रिपोर्ट में दोनों नेताओं की मुलाकात को लेकर कहा गया- कंजर्वेटिव पार्टी में गृह युद्ध की स्थिति से बचने के लिए दोनों नेताओं ने साथ मिलकर काम करने पर चर्चा की। हालांकि कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, पूर्व PM जॉनसन ने बैकडोर से सुनक को नंबर-2 का ऑफर दिया है, लेकिन सुनक कैंप का कहना है कि जब वे पहले भी वित्त मंत्री के रूप में रह चुके हैं तो इस ऑफर को स्वीकार क्यों करें। सुनक खुद ही प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल होंगे।

नए पीएम पद की रेस में आगे चल रहे सुनक :
28 अक्टूबर को फिर होने वाले चुनावों में तीन सांसदों के नाम प्रमुख दावेदारों के रूप में सामने आए हैं। इनमें सुनक के पास 128 टोरी सांसदों का सार्वजनिक समर्थन है, जबकि जॉनसन के पास 53 और कैबिनेट सदस्य पेनी मोर्डंट के पास 23 सांसदों का समर्थन है।

ऋषि नीति- समर्थक सांसदों को बढ़ाना, वोटिंग मेंबर तक न जाए :
ट्रस से पिछले मुकाबले में सुनक ने कंजरवेटिंग पार्टी के स्थायी सदस्यों की वोटिंग से बड़ा सबक लिया है। वे इस बार मुकाबले को पार्टी सदस्यों की वोटिंग तक नहीं ले जाना चाहते हैं। सांसदों की वोटिंग में सुनक आगे रहे थे। पार्टी सदस्यों की वोटिंग में सुनक को 60,399 और ट्रस को 81,326 वोट मिले थे। सुनक खुद के 100 सांसद और प्रतिद्वंद्वी के 100 से कम रखने की रणनीति में हैं।

45 दिन में गिरी लिज सरकार :
भारी दबाव का सामना कर रहीं ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने आखिरकार 20 अक्टूबर को इस्तीफा दे दिया। हालांकि, वो अगला प्रधानमंत्री चुने जाने तक पद पर बनी रहेंगी। ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने अपने सरकारी आवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर मीडिया से कहा- मैं जिन वादों के साथ सत्ता में आई थी, उन्हें पूरा नहीं कर सकी। इसका अफसोस है।

%d bloggers like this: