विवाहेत्तर प्रेम प्रसंग: प्रेम पाश कहीं प्रेम जाल तो नहीं, हर तरफ कौतूहल और चर्चा

गुवाहाटी, थर्ड आई न्यूज डेस्क : राज्य भर की संवेदनाओं को झकझोर देने वाला मनोज उर्फ मोनू प्रकरण सुलझने की बजाय उलझता चला जा रहा है।

गौरतलब है कि गत 3 जून की सुबह मनोज उर्फ मोनू चोरड़िया भरालुमुख स्थित इनलैंड टावर के दूसरे माले से गिर गया था। उसे घायल अवस्था में महानगर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां वह अभी भी इलाजरत है।

इस वारदात की तह तक जाने की कोशिश में क्या, क्यों, कैसे, कौन, किस लिए जैसे प्रश्नवाचकों का अंतहीन सिलसिला शुरू हो जाता है। मामले से जुड़े तमाम अनसुलझे सवालों के बीच कुछ बातें एकदम साफ है। पहली, मोनू और इनलैंड टावर में रहने वाली चांदनी के बीच विवाहेत्तर संबंध है। दूसरी, मोनू एक अय्याश किस्म का इंसान है। वह मनी ट्रांसफर से लेकर क्रिकेट की बुक चलाने का काला धंधा करता है। तीसरी, चांदनी का अपने ससुराल पक्ष से विवाद है और वह पति को छोड़कर अपने मायके में रह रही है। अभी तक उसका तलाक नहीं हुआ है। बताते हैं कि चांदनी पर धोखाधड़ी के कई मामले दर्ज हैं।

इस बीच पुलिस गत शुक्रवार को पूरे लाव लश्कर के साथ चांदनी के घर इनलैंड टावर पहुंची और घटनास्थल की सघन तलाशी ली। बताते हैं कि पुलिस ने मौके से वह चाकू बरामद किया, जिससे चांदनी ने कथित रूप से अपने हाथ की नस काट ली थी, हालांकि युवती पक्ष का आरोप है कि मोनू ने धारदार हथियार से उन लोगों पर हमला कर दिया था।

पुलिस मोनू के केदार रोड स्थित घर पर भी गई, वहां उसे क्या हाथ लगा इस विषय पर पुलिस अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। जहां तक क्या, क्यों, कब, कैसे, कौन, किस लिए जैसे प्रश्नों की बात है तो सवाल उठता है कि अलसुबह अपनी माशूका के घर मोनू किस लिए गया था? घर के अंदर उस वक्त कौन – कौन थे? घर में क्या घटित हुआ? मोनू खिड़की से कैसे गिरा? उसे धक्का दिया गया या उसने खुद छलांग लगाई ? अगर उसने खुद छलांग लगाई तो वह कौन से कारण थे, जिसके चलते उसने यह आत्मघाती कदम उठाया? इनलैंड टावर स्थित घर में किस बात पर दोनों पक्षों के बीच झगड़ा हुआ था? क्या यह सिंपल प्यार में तकरार की बात है या प्यार में फंसा कर पैसों की डिमांड का मामला है? चांदनी के हाथ में चोट कैसे आई? उसका बैकग्राउंड क्या है? वह अपनी ससुराल को छोड़ अपने पिता के घर में क्यों हैं? जिस लाल रंग की ईऑन मेगना गाड़ी ( AS 01 AY 5551) में मोनू को अस्पताल ले जाया गया, वह किसकी है? क्या घटना के वक्त मोनू के दोस्त इनलैंड टावर के बाहर खड़े थे? इस सारे गोरखधंधे में मोनू के दोस्त बीजू तापड़िया और संजय मुंदड़ा का क्या रोल है? यह बात दीगर है कि दोनों शादीशुदा जमाने और खुदाई को ठेंगा दिखाते हुए प्रेम पाश में बंधे हुए थे। यह प्रेम पाश कहीं प्रेम जाल तो नहीं था? सारे मामले में कौन नायक और कौन खलनायक है? हम चश्मदीदों के बयान, पुलिस की जांच तथा मोनू और चांदनी से संपर्क कर इस सनसनीखेज मामले के तार जोड़ने की कोशिश करेंगे। आपको बाखबर रखना हमारी जिम्मेवारी है। आप बने रहिए थर्ड आई न्यूज़ के साथ।

%d bloggers like this: