साउथ कोरिया में भगदड़ मचने से अब तक 151 की मौत; भारत सहित कई देशों ने व्यक्त किया शोक

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली l साउथ कोरिया की राजधानी सियोल में हैलोवीन उत्सव के दौरान भगदड़ मचने से 151 लोगों की मौत हो गई, जबकि 82 लोग घायल हो गए। मरने वालों में 19 विदेशी भी शामिल है। इस घटना से पूरी दुनिया में शोक की लहर है। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर, ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री चुने गए ऋषि सुनक , अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो समेत कई वैश्विक नेताओं ने इस हादसे पर शोक व्यक्त किया है।

सियोल में युवाओं की मौत पर गहरा सदमा लगा- जयशंकर
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट कर कहा, ‘सियोल में मची भगदड़ में इतने युवाओं की मौत पर गहरा सदमा लगा। अपनों को खोने वालों के परिवारों के प्रति हमारी संवेदनाएं। हम इस कठिन समय के दौरान कोरिया गणराज्य के साथ एकजुटता से खड़े हैं।’

सुनक ने हादसे पर व्यक्त किया शोक :
ऋषि सुनक के कहा, ‘सियोल से आज रात बुरी खबर आई है। इस बहुत ही संकटपूर्ण समय में हमारे सभी विचार वर्तमान में प्रतिक्रिया देने वालों और सभी दक्षिण कोरियाई लोगों के साथ हैं।’

बाइडन ने व्यक्त की संवेदना :
जो बाइडन ने ट्वीट कर कहा, ‘जिल और मैं सियोल में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं। हम कोरिया गणराज्य के लोगों के साथ शोक व्यक्त करते हैं और सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका इस दुखद समय के दौरान कोरिया गणराज्य के साथ खड़ा है।’

ट्रूडो ने घायल लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की :
कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रू़डो ने कहा, ‘कनाडा के लोगों की ओर से, मैं आज सियोल में एक घातक भगदड़ के बाद दक्षिण कोरिया के लोगों के प्रति अपनी गहरी संवेदना भेज रहा हूं। मैं इस त्रासदी से प्रभावित सभी लोगों के बारे में सोच रहा हूं, और जो लोग घायल हुए हैं, उनके शीघ्र और पूर्ण स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’

कार्डियक अरेस्ट से हुई लोगों की मौत :
बताया जाता है कि भगदड़ मचने से कई लोगों को कार्डियक अरेस्ट आया था। उन्हें सीपीआर देकर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस हादसे में 46 लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी, जबकि बाकी लोगों को अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया।

%d bloggers like this: