मुख्यमंत्री ने की 14 घंटे की मैराथन मीटिंग, ऊबे और थके अधिकारी, पर नहीं रुके हिमंत

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी I मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने गत बुधवार को जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों (एसपी) के साथ एक उच्च स्तरीय मीटिंग की। खासबात रही की यह मीटिंग 14 घंटे लगातार चली। इस दौरान कल्याणकारी पहलों के साथ शासन को जनता के करीब लाना, प्रशासन-पुलिस विभाग के बीच सहयोग को मजबूत करना था, नशे के खिलाफ अभियान जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। अधिकारियों ने बताया कि यह पहली बार है जब किसी सीएम ने इतनी लंबी मीटिंग की है। बताया जा रहा है कि मीटिंग के दौरान कई अधिकारी थके और ऊबे हुए नजर आए।

सीएम ने ट्वीट किया, ‘एएसीएस में डीसी और एसपी के साथ 14 घंटे की लंबी मैराथन बैठक (सुबह 10:30 से 1:15 बजे तक) हुई, जहां हमने बेहतर कल्याणकारी पहलों और आगे सुधार के लिए आवश्यक उपायों के साथ शासन को जनता के करीब लाने के विभिन्न तरीकों पर चर्चा की। राज्य के कानून और व्यवस्था तंत्र को लेकर चर्चा हुई।’

इन मुद्दों पर विस्तृत चर्चा :
हिमंत ने आगे कहा कि उन्होंने एसपी के साथ ड्रग्स के खिलाफ हमारे युद्ध में जिलेवार उपलब्धियों, अपराध में कमी, प्रौद्योगिकी के बेहतर उपयोग, पुलिस आधुनिकीकरण के उपायों आदि पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी बैठक में लचित बरफुकन, मिशन बसुंधरा 2.0 और अन्य की 400वीं जयंती समारोह से संबंधित मामले उठाए गए।

दिल्ली में लचित बरफुकन की जयंती :
विशेष रूप से, असम सरकार राष्ट्रीय राजधानी में अहोम जनरल लचित बरफुकन की 400 वीं जयंती के समापन समारोह का आयोजन करने की योजना बना रही है। विज्ञान भवन में दो दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, जिसमें महान योद्धाओं में से एक के जीवन को प्रदर्शित किया जाएगा। पूर्वी भारत के हीरो ने सराईघाट की महान लड़ाई में दुर्जेय मुगलों को हराया था।

असम सरकार ने कहा कि सरकार का लक्ष्य देश के अन्य हिस्सों में अब तक ज्ञात महान योद्धा को राष्ट्रीय प्रकाश में लाना है। 23 और 24 नवंबर को राष्ट्रीय राजधानी में कार्यक्रम को एक शानदार सफलता के लिए, कार्यक्रमों की एक श्रृंखला शुरू की गई है।

क्या है मिशन बसुंधरा?
भूमि राजस्व सेवाओं को सुव्यवस्थित करने और लोगों को उनके भूमि संबंधी कार्यों के लिए आसान पहुंच की सुविधा के लिए मिशन बसुंधरा को पिछले साल 2 अक्टूबर को असम में लॉन्च किया गया था। यह योजना अगले साल मई में खत्म हो सकती है। असम के मुख्यमंत्री हिमंत ने कहा था कि मिशन बसुंधरा के तहत राजस्व विभाग से जुड़े आठ लाख आवेदनों का निराकरण किया गया।

सीएम ने कहा कि उत्तरी गुवाहाटी की बसंती दास के मामले का निस्तारण अंतिम होगा। वह पिछले 18 वर्षों से अपने काम के लिए दर-दर भटक रही थीं। मिशन के तहत सभी 8,13,981 आवेदन प्राप्त हुए। बसुंधरा का निपटारा कर दिया गया है। हम सभी जानते हैं कि कुछ भूमि संबंधी मुद्दे प्रकृति में बहुत जटिल हैं और इसलिए मिशन के इस चरण (बसुंधरा) में प्राप्त सभी आवेदनों का समाधान नहीं किया जा सकता है। इसलिए, अगले कुछ महीनों के भीतर, हम एक बार योजना के अनसुलझे मामलों को फिर से मिशन बसुंधरा पोर्टल पर अपलोड करें और देखें कि इसका निस्तारण कैसे हो सकता है।

%d bloggers like this: