सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने भारत को 10 विकेट से रौंदा, पाकिस्तान के साथ होगा फाइनल

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली l टी20 वर्ल्ड कप 2022 के दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने भारत को 10 विकेट से हराते हुए फाइनल में प्रवेश किया। इस हार के साथ भारत का फाइनल खेलने का सपना एक बार फिर टूटा है। टीम इंडिया ने टी20 वर्ल्ड कप का आखिरी फाइनल 2014 में खेला था, जहां श्रीलंका से उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इंग्लैंड का सामना अब फाइनल में पाकिस्तान से 13 नवंबर को होगा। बात मुकाबले की करें तो टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए हार्दिक पांड्या और विराट कोहली के अर्धशतक के दम पर 168 रन बनाए थे। इस स्कोर को इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाजों ने बिना विकेट खोए 16 ही ओवर में हासिल कर लिया। बटलर ने 80 तो हेल्स ने 86 रनों की नाबाद पारी खेली।

ओपनर्स ने नहीं दिखाया अग्रेशन :
इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय ओपनर्स ने एक बार फिर निराश किया। केएल राहुल जहां 5 गेंदों पर 5 रन बनाकर आउट हुए, वहीं रोहित शर्मा ने 28 गेंदों पर 27 रन बनाए। दोनों ही सलामी बल्लेबाजों का स्ट्राइक रेट 100 या उससे कम था। टी20 क्रिकेट में अगर किसी टीम को बड़े टारगेट की नींव रखनी है तो सलामी बल्लेबाजों को पहले 6 ओवर का फायदा उठाना होता है, इस दौरान 30 गज के घेरे के बाहर मात्र 2 ही फील्डर होते हैं, मगर सेमीफाइनल में भारत इसका फायदा नहीं उठा पाया। पहले 6 ओवर में भारत ने मात्र 38 रन बनाए थे, वहीं दूसरी तरफ इंग्लैंड की बात करें तो उन्होंने पावरप्ले का जमकर फायदा उठाते हुए 63 रन जोड़े।

सूर्या बड़े मंच पर हुए फेल :
सूर्यकुमार यादव इस वर्ल्ड कप में भारत के लिए एक्स फैक्टर साबित हुए थे। मगर सेमीफाइनल जैसे बड़े मंच का प्रेशर यह खिलाड़ी नहीं झेल पाया। सूर्या मात्र 14 रन बनाकर पवेलियन लौटे। इंग्लैंड इस खिलाड़ी के लिए खास प्लान भी लेकर आई थी। इंग्लिश गेंदबाज सूर्या को पूरी पारी के दौरान पेस नहीं दे रहे थे जिस वजह से वह झटपटाते हुए आउट हुए। सूर्या को आदिल रशिद ने पवेलियन का रास्ता दिखाया।

गेंदबाज कमाल नहीं दिखा पाए :
हार्दिक पांड्या की 63 और विराट कोहली की 50 रनों की पारी के दम पर भारत ने 168 रन बनाए थे। इस स्कोर को डिफेंड करते हुए भारतीय गेंदबाज कमाल नहीं दिखा पाए। ना भुवनेश्वर कुमार समेत अन्य गेंदबाज पावरप्ले में विकेट निकाल पाए। ना ही अक्षर पटेल और आर अश्विन की जोड़ी भारत को कोई सफलता दिला पाई।

बटलर-हेल्स की धमाकेदार बल्लेबाजी :
169 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जोस बटलर और ऐलेक्स हेल्स ने शुरुआत से ही तूफानी बल्लेबाजी की थी। फील्ड को खेलते हुए इन दोनों खिलाड़ियों ने ताबड़तोड़ शॉट लगाए और भारतीय गेंदबाजों को विकेट का मौका नहीं दिया।

इंग्लैंड की कसी हुई गेंदबाजी :
टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने उतरी इंग्लैंड की टीम ने अच्छी शुरुआत की। उनके गेंदबाजों ने भारतीय बल्लेबाजों को हाथ खोलने का मौका नहीं दिया। जब रन बनाने के लिए भारतीय बैटर झटपटा रहे थे तब उन्होंने अपने विकेट खोए। क्रिस जॉर्डन और सैम कुर्रन को छोड़कर सभी गेंदबाजों ने किफायती गेंदबाजी की। यहां से इंग्लैंड ने अपनी जीत की नींव रखी।

%d bloggers like this: