असम में 25 हजार से ज्यादा लोग HIV संक्रमित, 45 फीसदी महिलाएं हैं पीड़ित

थर्ड आई न्यूज

गुवाहाटी. असम राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी (एएसएसीएस) के अनुसार असम में लगभग 25,073 लोग एचआईवी से पीड़ित हैं. एएसएसीएस ने कहा कि इन 25,073 लोगों में 45 प्रतिशत महिलाएं जबकि तीन फीसदी बच्चे हैं. सोसाइटी ने बृहस्पतिवार को विश्व एड्स दिवस के मौके पर ‘नाको एचआईवी अनुमान रिपोर्ट 2021’u का हवाला देते हुए कहा कि असम में एचआईवी फैलने की दर 0.09 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय दर 0.21 फीसदी से कम है.

राज्य में ‘एंटीरेट्रोवाइरल उपचार’ कराकर जीवित रहने वाले लोगों की संख्या 10,765u है. कामरूप (महानगर) जिले में सबसे अधिक 7,610 लोग एचआईवी से पीड़ित हैं. इसके बाद कछार में 5,200, नगांव में 1,602 और डिब्रूगढ़ में 1,402 लोग इसकी चपेट में हैं. एएसएसीएस ने कहा कि असम में एचआईवी के जितने मामले सामने आए हैं, उनमें से 81.63 प्रतिशत विषमलैंगिकोंi (हेटेरोसेक्शुअल) के बीच यौन संबंध के माध्यम से सामने आए हैं.

5.54 प्रतिशत मामले सीरिंज और सुइयों के इस्तेमाल के माध्यम से, 4.76 प्रतिशत माता-पिता से बच्चों में संक्रमण फैलने के कारण, 4.61 प्रतिशत समलैंगिकों के जरिए, 0.85 प्रतिशत मामले रक्त संक्रमण के कारण सामने आए हैं। 2.61 प्रतिशत मामलों की कोई वजह नहीं बताई गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने 2030 तक एड्स महामारी को समाप्त करने के लिए एचआईवीii की रोकथाम, उपचार और देखभाल के मामले में सभी को समान अवसर प्रदान करने की तत्काल आवश्यकता पर बल दिया.

डब्ल्यूएचओ की दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्रीय निदेशक डॉ पूनम खेत्रपाल सिंह ने बताया कि विश्व स्तर पर अनुमानित 3.84 करोड़ लोग एचआईवी की समस्या का सामना कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि 2021 में अनुमानित 15 लाख लोग एचआईवी संक्रमित थे और लगभग 6,50,000 लोगों की मृत्यु एड्स संबंधी कारणों से हुई. उन्होंने विश्व एड्स दिवस पर कहा कि दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में अनुमानित 38 लाख लोग एचआईवी के साथ जी रहे हैं, जो वैश्विक स्तर पर ऐसे लोगों की संख्या का लगभग 10 प्रतिशत है.

%d bloggers like this: