टीएमसी नेता सुष्मिता देव का दावा- तृणमूल कांग्रेस बनाएगी मेघालय में अगली सरकार

थर्ड आई न्यूज

शिलांग। तृणमूल नेता और राज्यसभा सदस्य सुष्मिता देव ने कहा है कि मेघायल में जनता वर्तमान कोनराड संगमा सरकार से त्रस्त है। मेघालय में जनता के सामने तृणमूल कांग्रेस ही विकल्प है और मुकुल संगमा के नेतृत्व में वहां अच्छा प्रचार कार्य चल रहा है। कांग्रेस का यहां कोई नामलेवा नहीं और भाजपा की नीति कभी पूर्वोत्तर में स्वीकार्य नहीं होगी। प्रदेश की जनता विकास चाहती है और यह सरकार विकास से कोसों दूर है। तृणमूल कांग्रेस को हर वर्ग का समर्थन मिल रहा है।

सुष्मिता ने कहा, चुनाव के बाद आप देखेंगे कि मेघालय में तृणमूल की सरकार बनने जा रही है। इस समय मेघालय में सत्तारूढ़ मेघालय डेमोक्रेटिक अलायंस (एमडीए) की सरकार है। भाजपा राज्य में नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार की सहयोगी है।

उन्होंने कहा कि पहली बात यह है कि मेघालय की जनता वहां बदलाव चाहती है। लेकिन अभी तक वहां पर कोई दूसरी पार्टी नहीं थी, जिसे लोग चुनते, जिन्हें लोग मौका देते। जबसे मुकुल संगमा के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस ने वहां पर काम करना शुरू किया, तो लोगों में विश्वास होने लगा है। लोग तृणमूल पर विश्वास करने लगे हैं। जनता वर्तमान सरकार से त्रस्त है। जनता बदलवा चाहती है, और तृणमूल कांग्रेस उनकी भावनओं पर खरी उतर रही है।

सुष्मिता ने कहा, हमने इंटरनल सर्वे कराया है। हमें जिस तरह का समर्थन मिल रहा है, उससे हम उत्साहित हैं। गारो, खासी और जयंतिया हिल्स में तृणमूल कांग्रेस काम कर रही है। लोग जुड़ रहे हैं। लोगों के उत्साह को देखते हुए हम पूरी तरह से आशावान हैं कि हम सरकार बनाएंगे। वहां तृणमूल के अलावा लोगों के पास कोई विकल्प ही नहीं है। कांग्रेस का तो वहां पर कोई अस्तित्व ही नहीं रहा। वहां पर कांग्रेस का कोई नाम लेवा भी नहीं है।

भाजपा के सरकार बनाने के दावों पर देव ने कहा, इस समय मेघालय में भाजपा सरकार में है। उन्होंने जनता के लिए क्या किया। भाजपा वाले एक भाषा और भूषा की बात करते हैं। जो पूर्वोत्तर में कभी स्वीकार्य नहीं। यहां कई धर्म, कई जाति और नाना वेषभूषा के लोग रहते हैं। असम में तो भाजपा की सरकार है, इस पर देव ने कहा- यह भाजपा की सरकार नहीं है। यह हिमंत विश्व शर्मा की सरकार है। जैसे कांग्रेस-आई बनी थी। वैसे ही असम की भाजपा-एच है यानि भाजपा-हिमंत। मालूम हो कि इस वर्ष पूर्वोत्तर के चार राज्यों में विधानसभा के चुनाव होने हैं, जिनमें मेघालय एक है।

%d bloggers like this: