“पिछली गलतियों को न दोहराएं”: केंद्र, असम से नागा होहो

थार्ड आई न्यूज़डेस्क, गुवाहाटी: नागालैंड में नागाओं की शीर्ष जनजातीय संस्था नागा होहो (एनएच) ने यहां राज्य सरकार से कहा है कि वह असम में प्रस्तावित कार्बी आंगलोंग स्वायत्त प्रादेशिक परिषद (KAATC) बनाते समय पिछली गलतियों को न दोहराए।

इससे पहले असम के मुख्यमंत्री हिमांता बिस्वा सरमा ने कहा कि कार्बी शांति समझौते को अंतिम चरण में ले लिया गया है और बहुत जल्द इस पर हस्ताक्षर किए जाएंगे।

इसमें कहा गया था कि प्रस्तावित काॅलोनी के दायरे में किसी भी नगा क्षेत्र को शामिल नहीं किया जाए।

एनएच अध्यक्ष एचके झिमोमी और स्पीकर मोआ इमचेन ने बातचीत में शामिल पक्षों से अंतिम समझौता करने से पहले तथ्यों पर विचार करने का अनुरोध किया । एनएच ने कहा कि कार्बी आंगलोंग में विभिन्न समुदायों के बीच भूमि सीमा मुद्दे की अनदेखी की ‘ पिछली गलती को भविष्य में किसी भी संभावित गलतफहमी और विवाद से बचने के लिए दोहराया नहीं जाना चाहिए ।

राष्ट्रीय राजमार्ग ने केंद्र और असम सरकार से निकट भविष्य में किसी भी समझौते पर हस्ताक्षर करने से पहले सभी हितधारकों को ध्यान में रखने का आग्रह किया । इसके अलावा होहो ने बताया कि भारत सरकार और नगा लोगों के बीच चल रही राजनीतिक बात का गंभीरता से विचार-सम्मान किया जाना चाहिए।

इसमें कहा गया है कि 20 साल से अधिक समय तक चली “भारत-नागा” राजनीतिक बात में बाधा नहीं बनने चाहिए ।

%d bloggers like this: