चंद्रपुर वासियों का विरोध लाया रंग, डंपिंग ग्राउंड फिर से बोरा गांव शिफ्ट

Shift Pits To Chandrapur By June: National Green Tribunal (NGT) Tells GMC -  Sentinelassam

थर्ड आई न्यूज़, गुवाहाटी | महानगर के आउटस्कर्ट में बसने वाले चंद्रपुर के निवासियों के लिए खुशी की खबर है कि उनके विरोध ने असर दिखाया जिसके परिणाम स्वरूप राज्य सरकार ने डंपिंग ग्राउंड को वहां से हटाकर फिर से बोरा गांव लाने का निर्णय लिया है.

यह खबर चंद्रपुर के लोगों को तो निश्चित रूप से सकून देगी, पर पर्यावरणविदों की पेशानी में बल पड़ने शुरू हो गए हैं. मालूम हो कि बोरा गांव में, जहां गुवाहाटी म्युनिसिपल कॉरपोरेशन सारे महानगर का कचरा डालता है, वह जगह दीपोर बील से बिल्कुल सटकर है. दीपोर बील एक रामसर साइट है. ऐसे में पर्यावरण विदों को चिंता है कि महानगर का कचरा वहां डम करने से बिल की पारिस्थितिकी पर असर पड़ेगा.

गौरतलब है कि हर वर्ष हजारों की तादाद में साइबेरिया से माइग्रेटरी बर्ड ठंड के दिनों में दीपोर बील आती है. हालांकि मंत्री अशोक सिंघल ने भरोसा दिलाया है कि बोरा गांव में कचरा डंप करने से दीपोर बील पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

%d bloggers like this: