75वें स्वतंत्रता दिवस पर सीएम शर्मा ने अल्फा प्रमुख से की शांति वार्ता की अपील

Himanta Biswa Sarma

थर्ड आई न्यूज, गुवाहाटी । असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने आज अल्फा के वार्ता विरोधी गुट के प्रमुख परेश बरुआ से 75वें स्वतंत्रता दिवस के राजकीय समारोह में बोलते हुए शांति वार्ता के लिए आगे आने की अपील की।

उन्होंने कहा कि ‘असम के लोगों की ओर से मैं परेश बरुआ से बातचीत के लिए आगे आने की अपील करता हूं। हमारे राज्य के किसी भी युवा का खून अब और नहीं बहना चाहिएl

उल्लेखनीय है कि पिछले कई दशकों से अल्फा स्वाधीनता दिवस वह गणतंत्र दिवस जैसे मौकों पर बंद का आह्वान करता है lयह पहला मौका है जब अल्फा ने ऐसा कोई आह्वान नहीं किया l जानकार लोग इसे प्रतिबंधित संगठन की ओर से सकारात्मक संकेत की तरह दिख रहे हैं l

शर्मा ने कोरोना महामारी में अथक परिश्रम करने के लिए डॉक्टरों, नर्सों, प्रयोगशाला तकनीशियनों और एम्बुलेंस ड्राइवरों सहित सभी कोविड योद्धाओं के प्रति आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि अगले एक सप्ताह में 1.5 करोड़ खुराक दिलाई जाएगी ।

उन्होंने मुक्केबाज लवलीना बोरगोहाईं को ओलंपिक में कांस्य पदक के लिए बधाई देते हुए कहा कि उनकी सफलता सभी के लिए प्रेरणा है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 26 जुलाई को मिजोरम के साथ अंतरराज्यीय सीमा पर हिंसा में मारे गए असम पुलिस के 6 शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित कीl

उन्होंने कहा कि असम सरकार राज्य की संवैधानिक सीमा से समझौता किए बिना सीमा विवादों को सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध है।

शर्मा ने कहा कि शुक्रवार को विधानसभा में पारित असम मवेशी संरक्षण विधेयक, 2021 राज्य के सांस्कृतिक लोकाचार की रक्षा के राज्य सरकार के संकल्प को दर्शाता है।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार जनसंख्या नियंत्रण के माध्यम से गरीबी उन्मूलन के लिए प्रतिबद्ध है और ड्रग्स, मानव तस्करी और अन्य सामाजिक खतरों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेगी ।

%d bloggers like this: