माता पिता को वृद्धाश्रम नहीं, तीर्थ लेकर जाएं :मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा

Himanta Biswa Sarma

थर्ड आई न्यूज़, गुवाहाटी | अपने वृद्ध माता- पिता को वृद्धाश्रम नहीं, बल्कि तीर्थ पर ले जाएं. सरकारी कर्मचारियों को इसके लिए सात दिनों का अवकाश मिलेगा. व्यापारियों को भी अपने काम से अवकाश लेकर माता- पिता को तीर्थ यात्रा करानी चाहिए. यह बात आज मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने कही. उन्होंने राज्य वासियों 75वें स्वाधीनता दिवस के मौके पर दस अपील की.

मुख्यमंत्री ने सिंगल यूज प्लास्टिक के बहिष्कार, गुटका तथा पान मसाले का त्याग करने को भी कहा. इस क्रम में उन्होंने कहा कि बेटियों की शादी 21 वर्ष की उम्र के बाद ही की जानी चाहिए. उन्होंने अपील की कि सभी कार्यक्रमों की शुरुआत ओ मोर आपुनार देश से की जानी चाहिए. मुख्यमंत्री शर्मा ने राज्य को हरा भरा बनाने के लिए सभी से वृक्षारोपण की अपील की. उन्होंने कहा कि महापुरुष श्रीमंत शंकर देव, श्री माधव देव, श्री श्री दामोदर देव, शिल्पी दिवस और बिष्णु राभा दिवस जैसे मौकों पर स्कूल- कॉलेज और सरकारी दफ्तरों में छुट्टी देने के बजाय कार्यक्रमों के द्वारा इन महापुरुषों के व्यक्तित्व और कृतित्व को याद करना चाहिए.

असम को देश के पांच शीर्ष राज्यों में स्थान देने के लिए उन्होंने सभी सरकारी कर्मचारियों से दफ्तर में स्वेच्छा से 1 घंटे अधिक काम करने की भी अपील की. ड्रग्स और मानव तस्करी के खिलाफ जारी अभियान को और आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने अपील की कि ऐसी किसी भी घटना की जानकारी मिलने पर असम की 24 x7 हेल्पलाइन को सूचित करें.

%d bloggers like this: