करोड़ों रूपये की धोखाधड़ी के मामले में रीयल एस्टेट कंपनी के दो निदेशक न्यायिक हिरासत में भेजे गये

थर्ड आई न्यूज़, नई दिल्ली । दिल्ली की एक अदालत ने 50 करोड़ रूपये से अधिक की कथित धोखाधड़ी के मामले में शहर की एक रीयल एस्टेट कंपनी के दो निदेशकों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश मोहिंदर विराट ने बुधवार को कंपनी के निदेशकों–सुशांत मुतरेजा एवं निशांत मुतरेजा को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। दोनों अन्य कथित धोखाधड़ी मामलों में पहले से ही जेल में हैं। दोनों को 16 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद अदालत ने उन्हें दो दिनों के लिए गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) की हिरासत में भेजा था।

एसएफआईओ अधिकारियों ने दोनों कथित धोखाधड़ी लेन-देन के बारे में पूछताछ की। सुनवाई के दौरान एसएफआईओ ने अदालत से कहा कि सुशांत और निशांत ने घर खरीददारों एवं निवेशकों को ठगने के लिए रीयल एस्टेट कंपनी में अपने पद का दुरूपयोग किया एवं खुद को अनुचित लाभ पहुंचाया। इस कोरपोरेट धोखाधड़ी जांच एजेंसी ने अदालत से कहा कि अबतक की जांच सामने आया है कि दोनों ने एक दूसरे की मिलीभगत से 50 करोड़ रूपये से अधिक की धोखाधड़ी की। दोनों को 16 अगस्त को दो दिनों के लिए एसएफआईओ की हिरासत में भेजते हुए न्यायाधीश ने कहा था कि उनके द्वारा किया गया अपराध ‘ गंभीर तरह ‘ का है।

दोनों दिल्ली-एनसीआर में फ्लैटों या संपत्ति का कब्जा नहीं देकर निवेशकों को करोड़ों रूपये का चूना लगाने के अन्य मामलों में भी आरोपी हैं। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लाउ ने दो अगस्त को उनकी जमानत अर्जी खारिज करते हुए कहा था कि दोनों ने देशभर में 893 लोगों को मकान का कब्जा नहीं देकर या आश्वस्त रिटर्न नहीं देकर 126 करोड़ रूपये का चूना लगाया।

%d bloggers like this: