“चौक” को लेकर नगांव के 100 वर्ष से भी अधिक पुराने बाजार पर संकट के बादल

नगांव 19 अगस्त डिंपल शर्मा | नगांव शहर के हैबरगांव इलाकें के व्यवसायी आजकल सरकार से खासा नाराज चल रहे है।व्यापारियों का कहना है कि शहर को सौंदर्यीकरण प्रदान करने की और सड़कों को चौड़ा करने की कवायद में “चौक”बनाने के नाम पर सरकार व्यापारियों के चौके-चूल्हे को बिगाड़ने में लगी है।

मिली जानकारी के अनुसार “असम माला” योजना के तहत हैबरगांव इलाकें में ढिंग गेट से बटाद्रोवा को जोड़ने वाली सड़क को चौड़ा करने के सरकारी आदेश पर करीब सात दिन पहले धर्मशाला पट्टी, हैबरगांव बाजार, हैबरगांव थाने के निकट स्थित आवासों और करीब सौ वर्षों से अधिक व्यापार करने वाले व्यापारिक प्रतिष्ठानों को सरकारी माप के मुताबिक तोड़ने के लिये चिन्हित किया गया।

सरकार द्वारा की गई मार्किंग से सड़कें जरूर चौड़ी होगी लेकिन इस तरफ सौ वर्षों से चल रहा बाजार और कई धार्मिक स्थल के साथ असम के प्रथम मुख्यमंत्री लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई की याद में बना शहर का सबसे पुराना उद्यान उजड़ जाएगा।लोगों की रोजी रोटी और जिस बाजार से हजारों लोग अपना जीवन यापन करते है, वह लोग मृतप्रायः अवस्था मे आ जाएंगे।

शहर की 100 वर्षों से भी अधिक पुरानी हैबरगांव व्यवसायी संस्था के अध्यक्ष अशोक दास और सचिव अनिल शर्मा ने इस बात को सरकार तक पहुचाने के लिए असम सरकार के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा के साथ मंत्री पीयूष हज़ारिका,मंत्री अशोक सिंघल,विधायक रूपक शर्मा,असम सरकार के मुख्य सचिव और नगांव जिला उपायुक्त को एक लिखित ज्ञापन व्यापारियों के तरफ से भेजने की बात कही है l संस्था के सदस्यों ने विधायक रूपक शर्मा से भी बातचीत की, लेकिन इस पर कोई ठोस नतीजा

विधायक से नही मिला l हालांकि उन्होंने ऊपर बातचीत करूंगा कहकर व्यापारियों को आश्वासन जरूर दिया l अपनी समस्या के प्रति सरकारी और प्रशासनिक बेरुखी से हैरान-परेशान स्थानीय लोगों ने यह भी कह दिया कि राजनैतिक दृष्टि से सरकार को आगे पौर सभा के होने वाले चुनावों में नुकसान भी झेलना पड़ सकता है।

ध्यान देने योग्य है कि इस चलित वर्ष में असम के सोनितपुर जिले के ढेकियाजुली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘असोम माला’ प्रोग्राम को लॉन्च किया । इस दौरान मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भी मौजूद रहें। असोम माला प्रोजेक्ट के तहत राज्य की सड़कों को बेहतर किया जाएगा। 

%d bloggers like this: