अंतर जिला यातायात ना खोले जाने पर नाराजगी : मुख्यमंत्री ने कमर्शियल वाहनों के चालकों से थोड़ा धीरज रखने को कहा

TIME8 News | COVID-19 Scare: ASTC Buses Come To Rescue Of Stranded  Passengers

थर्ड आई न्यूज़, जोरहाट | राज्य में अंतर जिला यातायात पर प्रतिबंध के चलते न केवल व्यापारी वर्ग निराश है, बल्कि बसों व अन्य कमर्शियल वाहनों के चालक भी परेशान है. उनकी रोजी-रोटी के ऊपर संकट आन खड़ा हुआ है. राज्य भर में जगह-जगह से कमर्शियल वाहनों के चालकों द्वारा विरोध प्रदर्शन की खबरें आ रही है.

इन खबरों के बीच मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने आज जोरहाट में कहा कि कमर्शियल वाहनों के मालिक, चालकों व खलासियों को कम से कम 15 दिन और इंतजार करना होगा. सरकार अंतर जिला यातायात को पूरी तरह खोलने पर विचार कर रही है.

जोरहाट सेंट्रल जेल के भ्रमण के दौरान उन्होंने कहा कि प्राइवेट वाहनों को पहले ही अंतर जिला यातायात की छूट दे दी गई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी भी राज्य में औसतन 700-800 संक्रमण के मामले रोज आ रहे हैं. ऐसे में सरकार को चौकस और सजग रहना जरूरी है. उन्होंने कहा कि यह तय है कि अंतर जिला यातायात खोलने से कमर्शियल वाहन के मालिक और चालक 50 फ़ीसदी कैपेसिटी पर वाहन कतई नहीं चलाएंगे. ऐसे में उन्हें थोड़े दिन इंतजार करना चाहिए.

%d bloggers like this: