हिमंत सरकार के 100 दिन पूरे, मुख्यमंत्री ने गिनाई उपलब्धियां, की कई घोषणाएं

Himanta Biswa Sarma led Assam govt completes 100 days in office - NewsOnAIR  -

थर्ड आई न्यूज़, गुवाहाटी. हिमंत सरकार के 100 दिन आज पूरे हो गए हैं. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने आज प्रेस को संबोधित करते हुए जहां एक और अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाई, वहीं दूसरी ओर इस मौके पर उन्होंने कई जनकल्याणकारी घोषणाएं भी की.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 100 दिनों में उनकी सरकार कोरोना संक्रमण पर काबू पाने में सक्षम रही है. उन्होंने कहा कि आज की तारीख में राज्य में पॉजिटिविटी दर 1 फ़ीसदी से भी कम है. हिमंत ने बताया कि गत 10 मई से 19 अगस्त तक एक करोड़ 21 लाख 59 हजार 162 लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है. उन्होंने कहा कि सरकार रोजाना डेढ़ लाख लोगों को वैक्सीन के डोज दे रही हैं.

बेरोजगारी असम की मुख्य समस्या रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने चुनावी वायदे के मुताबिक आज से एक लाख लोगों को रोजगार देने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है. राज्य सरकार माइक्रो फाइनेंस लोन लेने वालों को रियायत देने के लिए जल्द ही लोन देने वाली कंपनियों के साथ एमओयू साइन करने जा रही है.

उग्रवाद पर लगाम लगाने की बात कहते हुए हिमंत ने कहा कि एनएलएफबी को मुख्यधारा में लाना उनकी सरकार की उपलब्धि रही है.

राज्य में बिजली की चोरी और उपभोक्ताओं द्वारा समय पर बिल का भुगतान ना करना एक बड़ी समस्या रही है. लिहाजा राज्य सरकार ने भुगतान न करने वाले उपभोक्ताओं पर कड़ा रुख अपनाते हुए हर महीने 600 करोड रुपया बिजली बिल के मद में जमा किया है.

मुख्यमंत्री ने बताया कि उनकी सरकार गुवाहाटी में 3 नए पाक बनाने जा रही है. नई सरकार के शासनकाल में बीटीसी में शांति आई है. राज्य के कृषि क्षेत्र में उन्नति हुई है तथा असम आर्थिक दृष्टि से मजबूत हुआ है. हिमंत ने बताया कि पिछले 100 दिनों में उनकी कैबिनेट में 400 से अधिक निर्णय लिए हैं. उन्होंने बताया कि अरुणोदय स्कीम के तहत अब 830 के बजाय हिताधिकारियों को प्रति महीने ₹1000 दिए जाएंगे.

प्रदूषण से गुवाहाटी को राहत दिलाने के लिए राज्य सरकार बड़े कदम उठाने जा रही है. मुख्यमंत्री ने बताया कि महानगर में अब केवल इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी. एएसटीसी पेट्रोल और डीजल से चलने वाली बसों को अपने बेड़े से बाहर कर देगी. राज्य सरकार 200 इलेक्ट्रिक और सौ सीएनजी से चलने वाली बसें खरीदेगी.

कोरोना महामारी से प्रभावित होने वाले बस ड्राइवरों, मंदिर के पुजारियों और कलाकारों को सरकार एकमुश्त सहायता देगी. उन्होंने कहा कि आगामी 1 तारीख से अंतर जिला यातायात के नियमों में और ढील दी जाएगी.

%d bloggers like this: