गुवाहाटी होगा कार्बन उत्सर्जन मुक्त, कोविड प्रभावित बस ड्राइवरों, हैंडीमैन और पुजारियों को सरकार देगी एकमुश्त अनुदान, हिमंत कैबिनेट की बैठक में लिए गए निर्णय

cabinet

थर्ड आई न्यूज़, गुवाहाटी | राज्य सरकार कोरोना महामारी के चलते प्रभावित बसों के ड्राइवरों, हैंडीमैन, मंदिर के पुजारियों और नामघरिया को एकमुश्त अनुदान देगी. हिमंत कैबिनेट की आज संपन्न हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया. उक्त निर्णय के मुताबिक ड्राइवरों और हैंडीमैन को ₹10000 तथा मंदिर के पुजारियों और नामघरिया को ₹15000 की सहायता दी जाएगी. इसके लिए हिताधिकारियों को अपने नाम एक पोर्टल में पंजीकृत करने होंगे.

कार्बन उत्सर्जन के खिलाफ विश्वव्यापी अभियान में शिरकत करते हुए असम सरकार ने राज्य को कार्बन मुक्त करने का बीड़ा उठाया है. इसके लिए पहले चरण में सरकार गुवाहाटी में 200 इलेक्ट्रिक बसें और सौ सीएनजी बसें उतारेगी.

आज कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया गया कि भूगोल और इतिहास अब से स्कूलों में अनिवार्य विषय होंगे. राज्य सरकार राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रावधानों को अप्रैल 2022 से लागू करना शुरू करेगी. इसके तहत राज्य के सभी हाई स्कूल सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में तब्दील किए जाएंगे, जबकि जूनियर कॉलेज में क्लास 9 और 10 की पढ़ाई होगी.

कैबिनेट ने एक और महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए अरुणोदय योजना के तहत हिताधिकारियों को 830 के बजाय ₹1000 देने का निर्णय लिया है .यह निर्णय आगामी 10 सितंबर से प्रभावी होगा.

अब से हर महीना कैबिनेट की एक मीटिंग राज्य के किसी जिला हेडक्वार्टर में होगी .इस कड़ी में पहली मीटिंग सितंबर में धेमाजी जिले में होगी.

%d bloggers like this: