तपस्या में सिलचर तेरापंथ समाज ने रचा इतिहास

थर्ड आई न्यूज, सिलचर | सिलचर तेरापंथ के इतिहास में प्रथम बार मासखमण तपाभिनन्दन महातपस्वी आचार्य श्री महाश्रमण जी की विदुषी सुशिष्या साध्वीश्री संगीतश्री ठाणा चार के सान्निध्य में तीन तपस्वियों श्री जेठमलजी मरोटी(31), श्रीमती बिन्दु चोरड़िया(31) व श्रीमती संजु कोठारी(31) के कार्यक्रम का किया गया। लगभग तीन घंटे तक यह कार्यक्रम चला।चारों साध्वियों ने अपने प्रेरणा दायक उदबोधन में तपस्वियों के मजबूत मनोबल व दृढ इच्छा शक्ति का उल्लेख करते हुए कहा कि इसी वजह से वे इतने बड़े लक्ष्य तक पहुंच पाये हैं ।

कार्यक्रम में गुवाहाटी से महासभा के आंचलिक प्रभारी बसन्त जी सुराणा व करीमगंज से महिला मंडल की बहिनें उपस्थित हुईं ।असाधारण साध्वी प्रमुख श्री कनक प्रभा जी का मंगल सन्देश तीनों तपस्वियों का तीनों साध्वीश्री जी द्वारा अलग-अलग वाचन किया गया।गुवाहाटी सभा के अध्यक्ष श्री झंकार जी दुधेड़ीया का संदेश सभा मंत्री तोलाराम गुलगुलिया द्वारा पढ़कर सुनाया गया।

नगांव सभा अध्यक्ष का संदेश का उल्लेख साध्वीश्री संगीतश्री जी द्वारा किया गया। तीनों तपस्वियों के पारिवारिक जनों ने,जैन समिति के अध्यक्ष महावीर प्रसाद जी जैन,मंत्री मूलचन्द जी बैद,सभा कार्यकारी अध्यक्ष प्रदीप जी सुराणा,महिला मंडल अध्यक्षा श्रीमती प्रेम सुराणा, तेयुप अध्यक्ष पंकज नाहर, महासभा आंचलिक प्रभारी बसन्तजी सुराणा,करीमगंज महिला मंडल व सिलचर तेरापंथ महिला मंडल द्वारा अपनी गीतिकाओ व वक्तव्यों के द्वारा तपस्वियों के तप अनुमोदना के अपने भावों को प्रस्तुत किया।तीनों तपस्वियों को तीनों संस्थाओं द्वारा अभिनन्दन पत्र तथा साहित्य भेंट कर सम्मानित किया गया।

%d bloggers like this: