शर्म है कि उनको आती नहीं, मुनव्वर राणा ने तालिबान की तुलना महर्षि वाल्मीकि से की , मामला दर्ज

थर्ड आई न्यूज़

नई दिल्ली l रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि की तुलना तालिबान से कर धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में उर्दू कवि मुनव्वर राणा  के खिलाफ मध्यप्रदेश के गुना में एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस अधिकारी के अनुसार भाजपा के अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के राज्य सचिव सुनील मालवीय और वाल्मीकि समुदाय के अन्य सदस्यों की शिकायत के बाद यह मामला दर्ज किया गया है। मालवीय ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि राणा ने अपनी टिप्पणियों से महर्षि वाल्मीकि का अपमान किया और वाल्मीकि समुदाय और हिंदुओं की भावनाओं को आहत किया, इसलिए हमने यह मामला दर्ज करवाया गया है lपुलिस ने कहा कि राणा के खिलाफ आईपीसी की धारा 505 (2) के तहत मामला दर्ज किया गया है और इसे यूपी के लखनऊ स्थित हजरतगंज पुलिस थाने में भेजा गया है। बता दें कि इससे पहले इसी मामले में लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली थाने में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।

गौरतलब है कि एक चैनल से बात करते हुए राणा  ने कहा था कि वाल्मीकि रामायण लिखने के बाद भगवान बन गए लेकिन इससे पहले वह डकैत थे। व्यक्ति का चरित्र बदल सकता है। इसी तरह, तालिबान, अभी के लिए आतंकवादी हैं, लेकिन लोगों का चरित्र कभी भी बदल सकता है। इसके अलावा मुनव्वर राणा ने कहा था कि तालिबानी लड़ाकों ने किसी मुल्क पर हमला नहीं किया बल्कि उन्होंने अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान में अपनी सैन्य ताकत के बलबूते जो सरकार बनाई गई थी उसे उखाड़ फेंका है। इस तरह तालिबान ने तो अपने मुल्क को आजाद कराया है। इसके अलावा उन्होंने कहा था कि तालिबान को आतंकवादी नहीं कह सकते, उन्हें अग्रेसिव (उग्र) कहा जा सकता है।

%d bloggers like this: