अफगानिस्तान पर राज के लिए तालिबान ने बनाई टीम-12, पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई सहित हक्कानी नेटवर्क का आतंकी भी शामिल

थर्ड आई न्यूज

नई दिल्ली l अफगानिस्तान में तालिबानी शासकों के चेहरे सामने आ गए हैं। तालिबान ने आज देश को चलाने के लिए 12 सदस्यों वाली एक काउंसिल का गठन किया है। इनमें 7 नामों का ऐलान कर दिया गया है। वहीं पांच नाम अभी तय होने बाकी हैं।

काउंसिल में अब्दुल गनी बरादर (तालिबान का सह-संस्थापक), मुल्ला याकूब (तालिबान संस्थापक के बेटे), खलील-उर-रहमान हक्कानी (हक्कानी नेटवर्क-आतंकी समूह), डॉ. अब्दुल्ला अब्दुल्ला (पूर्व प्रधानमंत्री), हामिद करजई (पूर्व राष्ट्रपति), हनीफ अतमार और गुलबुद्दीन हेकमतयार का नाम शामिल है। सूत्रों का कहना है कि ‘राष्ट्रपति और अमीरात के अलावा तालिबान 12 सदस्यीय काउंसिल के साथ अफगानिस्तान पर शासन करेगा।’ हक्कानी अमेरिका के मोस्टवांटेड आतंकियों की लिस्ट में शामिल है। उस पर 50 लाख डॉलर का इनाम भी है।

तालिबानी लड़ाकों का सफाया करने वाले गुल आगा शेरजई वित्तमंत्री बनाए गए
तालिबान ने आज अपनी अंतरिम सरकार के कई मंत्रियों का ऐलान किया है। खास बात यह है कि संगठन ने किसी समय तालिबान के कट्‌टर विरोधी रहे गुल आगा शेरजई को वित्तमंत्री नियुक्त किया है। शेरजई पहले कंधार और फिर नंगरहार के गवर्नर रहे हैं।

तालिबान के खिलाफ लड़ाई में वे CIA के प्रमुख सहयोगी थे। उन्हें तालिबान का कसाई भी कहा जाता है। कंधार का गवर्नर रहते हुए उन्होंने तालिबान के सफाए में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने नंगरहार का गवर्नर रहते हुए सड़क निर्माण कराए थे, जिसकी वजह से उन्हें अफगानिस्तान का बुलडोजर कहा जाता है। कुछ दिन पहले ही शेरजई ने तालिबान के प्रति निष्ठा की कसम खाई थी। वे अफगानिस्तान के ऐसे बड़े नेताओं में हैं, जो पहले तालिबान के कट्टर विरोधी थे, लेकिन अब तालिबान के साथ हैं।

अमेरिका और तालिबान के बीच एक समझौता हुआ था, जिसके मुताबिक 31 अगस्त तक तालिबान पूर्ण सरकार नहीं बना सकता, इसलिए अंतरिम सरकार बनाई गई है। -फाइल फोटो
अमेरिका और तालिबान के बीच एक समझौता हुआ था, जिसके मुताबिक 31 अगस्त तक तालिबान पूर्ण सरकार नहीं बना सकता, इसलिए अंतरिम सरकार बनाई गई है l
तालिबान ने मुल्ला सखाउल्लाह को कार्यवाहक शिक्षा मंत्री और अब्दुल बारी को उच्च शिक्षा मंत्री बनाया है। सद्र इब्राहिम को अंतरिम गृह मंत्री बनाया गया है। वहीं, मुल्ला शिरीन को काबुल का गवर्नर और हमदुल्ला नोमानी को काबुल का मेयर बनाया गया है।

%d bloggers like this: